Wednesday , February 21 2024

Vastu Tips: नया घर खरीदने की सोच रहे हैं? इसलिए पारिवारिक खुशहाली के लिए इन वास्तु नियमों का सख्ती से पालन करें

वास्तु टिप्स: नया घर बनवाते या खरीदते समय वास्तु शास्त्र के नियमों और सिद्धांतों को ध्यान में रखना चाहिए। इससे परिवार पर नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव नहीं पड़ता और परिवार के सदस्यों को सुख, शांति और समृद्धि भी मिलती है।

नया घर बनाना या खरीदना किसी के लिए भी एक सपने के सच होने जैसा होता है। क्योंकि हर कोई यही सपना देखता है. किसी भवन के लिए जीवन भर का निवेश करते समय यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि उसमें कोई वास्तु दोष न हो।

नया घर खरीदते या बनवाते समय अपने घर को वास्तु शास्त्र के नियमों और सिद्धांतों के अनुसार डिजाइन करना बहुत जरूरी है। वास्तुशास्त्र में घर और परिवार में सकारात्मक ऊर्जा के वातावरण को ध्यान में रखते हुए घर की दिशा, दशा, रंग, डिजाइन, आकार आदि का उल्लेख किया गया है।

इसलिए यह आवश्यक हो जाता है कि घर बनाते समय या खरीदते समय हर किसी को वास्तु शास्त्र के महत्वपूर्ण और मौलिक सिद्धांतों का पालन करना चाहिए। आइए जानें कि आपके सपनों का घर वास्तुशिल्प की दृष्टि से कैसा दिखना चाहिए।

 

किचन के लिए वास्तु टिप्स: वास्तु शास्त्र के अनुसार किचन हमेशा दक्षिण-पूर्व दिशा में बनाना चाहिए। रसोईघर कभी भी दक्षिण-पश्चिम, उत्तर-पूर्व या उत्तर दिशा में नहीं बनाना चाहिए।

मुख्य द्वार के लिए वास्तु टिप्स: घर का प्रवेश द्वार सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। क्योंकि इससे नकारात्मक या सकारात्मक ऊर्जा भी घर में प्रवेश करती है। इसलिए इस बात का पूरा ध्यान रखें कि प्रवेश द्वार की दिशा सही हो। वास्तु के अनुसार प्रवेश द्वार उत्तर, पूर्व या उत्तर-पूर्व दिशा में हो तो शुभ माना जाता है।

बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स: अगर बेडरूम की दिशा सही नहीं है तो दांपत्य जीवन में हमेशा तनाव और कलह बनी रहती है। वास्तु के अनुसार शयनकक्ष दक्षिण-पश्चिम दिशा में होना चाहिए।

मास्टर बाथरूम के लिए वास्तु टिप्स: अगर घर में बाथरूम सही नहीं है तो नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बहुत तेजी से बढ़ जाता है। वास्तु के अनुसार बाथरूम उत्तर-पश्चिम कोने में बनाना चाहिए और बाथरूम का मुख उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए।

लिविंग रूम के लिए वास्तु टिप्स: लिविंग रूम या लिविंग रूम पूर्व, उत्तर या उत्तर-पूर्व दिशा में बनाया जा सकता है। सकारात्मकता के लिए लिविंग रूम को वास्तु के अनुसार शोपीस, पेड़-पौधे आदि से सजाएं।