Wednesday , February 21 2024

Tax Saving Scheme: ये तीन सरकारी योजनाएं बचाएंगी लाखों रुपये का टैक्स, तुरंत करें निवेश

Tax Saving Schemes, Government Schemes, Financial Freedom, Invest Smart, Tax Savings Alert, Wealth Building, Secure Your Future, Smart Investing, Financial Planning, Invest Now

केंद्र सरकार द्वारा कई सरकारी योजनाएं चलाई जाती हैं। ये योजनाएं न केवल मुनाफा देती हैं बल्कि मध्यम वर्ग को टैक्स बचत का लाभ भी देती हैं। अगर आप करदाता हैं और रिटर्न के साथ टैक्स बचाना चाहते हैं तो ये योजनाएं आपके लिए हैं। इन योजनाओं में निवेश कर आप लाखों रुपये का टैक्स बचा सकते हैं.

हम बात कर रहे हैं छोटी बचत योजनाओं की, जिन्हें आप पोस्ट ऑफिस के जरिए खोल सकते हैं। छोटी बचत योजनाओं के तहत छोटी अवधि से लेकर लंबी अवधि तक के निवेश होते हैं। छोटी बचत योजना के अंतर्गत पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ), टर्म डिपॉजिट, सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम और सुकन्या समृद्धि (एसएसवाई) जैसी कई योजनाएं शामिल हैं। टैक्स बचत के लिए EPF जैसी स्कीम भी है.

PPF में निवेश पर कितनी छूट?

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) छोटी बचत योजना के तहत एक योजना है, जिसमें आयकर की धारा 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये की बचत की जा सकती है। इसमें निवेश की अधिकतम राशि 1.5 लाख रुपये सालाना है, जिसके कारण यह योजना पूरी तरह से कर मुक्त है। पीपीएफ एक लंबी अवधि की निवेश योजना है, जिसमें कम से कम 15 साल के लिए निवेश किया जा सकता है। इस योजना के तहत ब्याज 7.1 फीसदी है. इसमें आप कम से कम 500 रुपये का निवेश कर सकते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना (एसएसवाई)

सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत केंद्र सरकार की ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना के तहत की गई थी। आप लड़कियों के नाम पर इस योजना में निवेश शुरू कर सकते हैं और हर साल लाखों रुपये का टैक्स बचा सकते हैं। इस योजना के तहत बेटी के 18 साल की होने पर निवेश की गई आधी रकम निकाली जा सकती है और 21 साल की होने पर पूरी रकम निकाली जा सकती है। इस योजना के तहत ब्याज 8 फीसदी है।

ईपीएफ योजना के तहत कर छूट

कर्मचारी भविष्य निधि या पीएफ खाते के तहत कर्मचारी को हर महीने अपने वेतन का 12 प्रतिशत योगदान करना होता है। वहीं, आपके पीएफ खाते में कंपनी या संगठन द्वारा भी उतना ही योगदान किया जाता है। यह स्कीम भी टैक्स सेविंग के अंतर्गत आती है, जिसमें इनकम टैक्स की धारा 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक की छूट मिलती है. इस योजना में सरकार 8.1 फीसदी ब्याज देती है. यह योजना विशेष रूप से सेवानिवृत्ति के लिए पैसा जमा करती है, लेकिन जरूरत पड़ने पर आप आपातकालीन निधि के रूप में पैसा निकाल सकते हैं।