Sunday , June 23 2024

T20 WC 2024 में श्रीलंका ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हमारे साथ हुआ भेदभाव

आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप में श्रीलंका ने अपना पहला मैच दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला. इस मैच में श्रीलंका का बल्लेबाजी क्रम पूरी तरह फ्लॉप साबित हुआ है. पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका की टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सिर्फ 77 रन पर आउट हो गई. दक्षिण अफ्रीका के लिए लक्ष्य बेहद आसान था, जिसे महज 16.4 ओवर में हासिल कर लिया गया. इस मैच के बाद श्रीलंकाई दिग्गज ने इस हार का कारण बताते हुए आईसीसी के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की और बड़े आरोप भी लगाए. उन्होंने इशारों-इशारों में श्रीलंका पर भेदभाव का आरोप लगाया.

 

श्रीलंकाई स्टार ने क्यों जताई नाराजगी?

श्रीलंका के स्पिन गेंदबाज महेश तीक्षणा ने टी20 वर्ल्ड कप शेड्यूल को लेकर आईसीसी से नाराजगी जताई है. उन्होंने संकेत दिया है कि विश्व कप कार्यक्रम में श्रीलंकाई टीम के साथ भेदभाव किया जा रहा है. खिलाड़ी ने कहा कि हमें होटल से मैदान तक आने-जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. हमें अपने चार ग्रुप स्टेज मैच चार अलग-अलग स्थानों पर खेलने होंगे। श्रीलंका के अलावा, यह केवल नीदरलैंड है जिसने सभी चार लीग मैच अलग-अलग स्थानों पर खेले हैं। एक जगह मैच नहीं होने से खिलाड़ियों को आने-जाने में दिक्कत हो रही है. हमें वहां पहुंचने के लिए हवाई अड्डे पर 8 घंटे तक इंतजार करना पड़ा। जिससे हमारी कार्यक्षमता प्रभावित होती है.

 

 

 

कप्तान आईसीसी के फैसले से भी नाखुश हैं

तीक्ष्ण ने आगे कहा कि हमारी टीम के खिलाड़ियों को रुकने के लिए जो होटल उपलब्ध कराया गया है, वह भी आयोजन स्थल से काफी दूर है, जिससे उन्हें अभ्यास के लिए मैदान पर जाने में समय लगता है. महेश तीक्ष्ण ने कहा कि दूरी के कारण हमें अपनी प्रैक्टिस भी रद्द करनी पड़ी. आपको बता दें कि इस मामले में श्रीलंकाई टीम के कप्तान वानिंदु हसरंगा ने भी आईसीसी के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने दक्षिण अफ्रीका से मिली हार के लिए आईसीसी को भी जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि श्रीलंका का अगला मैच 7 जून को बांग्लादेश के खिलाफ है, इसलिए हमारे पास मैच के लिए सिर्फ 3 दिन हैं। इस मैच से पहले भी हमें ठीक से अभ्यास करने का मौका नहीं मिलेगा.