Sunday , June 23 2024

DA Hike: केंद्रीय कर्मचारियों का कितना बढ़ेगा महंगाई भत्ता? लेबर ब्यूरो ने जारी नहीं किया आंकड़ा

Central government employees news: केंद्रीय कर्मचारियों को लगातार तीसरे महीने झटका लगा है। एक बार फिर अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (AICPI-IW) के नंबर जारी नहीं हुए हैं। 31 मई को जारी होने वाले नंबरों को रोक दिया गया है। लेबर ब्यूरो ने जनवरी 2024 के बाद से कोई नंबर जारी नहीं किया है। इससे यह अंदाजा लगाना मुश्किल हो गया है कि जुलाई 2024 में महंगाई भत्ता (DA hike) कितना बढ़ेगा? लेबर ब्यूरो के इस फैसले से विशेषज्ञ भी हैरान हैं। करीब दो दशक में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब इंडस्ट्रियल वर्कर्स (CPI-IW) के लिए महंगाई के आंकड़े जारी नहीं हुए हैं। सूत्रों की मानें तो लेबर ब्यूरो के पास फरवरी और मार्च महीने के आंकड़े नहीं होने की वजह से इसमें देरी हो रही है। अब जून के आखिर तक इसके नंबरों का इंतजार करना होगा।

क्या बात है आ?

औद्योगिक श्रमिकों के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI-IW) ने फरवरी, मार्च और अप्रैल के आंकड़े जारी नहीं किए हैं। सूत्रों के मुताबिक, आंकड़े जारी करने में देरी इसलिए हो रही है क्योंकि श्रम ब्यूरो के पास अभी फरवरी और मार्च के आंकड़े नहीं हैं। बताया जा रहा है कि जून के आखिर में जारी होने वाले आंकड़ों में यह जानकारी अपडेट की जा सकती है। भले ही श्रम ब्यूरो के पास आंकड़े नहीं हैं। लेकिन, इसका मतलब यह नहीं है कि जुलाई 2024 में महंगाई भत्ता नहीं बढ़ेगा। हालांकि, गणना में थोड़ा बदलाव हो सकता है।

श्रम ब्यूरो के पास फरवरी का डेटा नहीं है

बता दें, केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महंगाई के अनुपात में बढ़ने वाले महंगाई भत्ते के नंबर हर महीने के आखिरी कार्य दिवस को जारी होते हैं. जनवरी 2024 के आंकड़े 28 फरवरी को जारी किए गए थे. उसके बाद से फरवरी, मार्च और अप्रैल महीने के AICPI इंडेक्स (CPI-IW) नंबर जारी नहीं किए गए हैं. ये वो नंबर होते हैं जिनके आधार पर तय होता है कि केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता कितना बढ़ेगा. लेकिन, इस बार अंदाजा लगाना मुश्किल है. जनवरी 2024 में AICPI इंडेक्स 138.9 अंक पर था जिसके आधार पर महंगाई भत्ते का स्कोर 50.84 यानी 51 फीसदी हो गया है. अब आगे के नंबर आने के बाद ही पता चलेगा कि जुलाई 2024 के लिए महंगाई कितनी बढ़ेगी.

महंगाई भत्ता शून्य नहीं होगा (0)

चर्चा थी कि जुलाई 2024 से केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता जीरो हो जाएगा. लेकिन, ऐसा कोई नियम नहीं है. सरकार ने भी ऐसे किसी विचार से खुद को अलग कर लिया है. महंगाई भत्ते की गणना (DA Hike calculations) 50 फीसदी से आगे बढ़ने पर होती रहेगी. सूत्रों के मुताबिक, इस चर्चा ने इसलिए जोर पकड़ा क्योंकि, साल 2016 में जब आधार वर्ष बदला गया था तो महंगाई भत्ते को जीरो कर बेसिक सैलरी में मर्ज कर दिया गया था. लेकिन, ऐसा आधार वर्ष में बदलाव की वजह से किया गया था. लेकिन, इसे लेकर कोई नियम नहीं बनाया गया था कि 50 फीसदी होने पर इसे जीरो कर दिया जाएगा. फिलहाल आधार वर्ष बदलने की जरूरत नहीं है. ऐसे में महंगाई भत्ते के मर्जर के पीछे कोई ठोस वजह नहीं है. गणना 50 फीसदी से आगे ही होगी. जानकारों की मानें तो अगला महंगाई भत्ता 4 फीसदी तक बढ़ भी सकता है.

अब महंगाई भत्ते में कब होगा बदलाव?

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए DA बढ़ोतरी में अगला संशोधन जुलाई 2024 में होना है. मौजूदा आंकड़ों के मुताबिक DA का स्कोर 50.84 फीसदी पर पहुंच गया है. जानकारों का कहना है कि महंगाई भत्ते (DA) में अगला अपडेट 4 फीसदी का भी हो सकता है. मौजूदा ट्रेंड के मुताबिक महंगाई भत्ता 51 फीसदी पर पहुंच गया है. फरवरी, मार्च, अप्रैल, मई और जून के आंकड़ों से तय होना है कि अगला उछाल कितना बड़ा होगा. उम्मीद है कि मौजूदा स्थिति से 3 फीसदी और बढ़ोतरी की संभावना है. मतलब महंगाई भत्ता 51 से बढ़कर 54 फीसदी हो जाएगा.

महंगाई भत्ते में होगी भारी उछाल

7वें वेतन आयोग के तहत जनवरी से जून 2024 तक के AICPI नंबर केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते का निर्धारण करेंगे। महंगाई भत्ता 50.84 फीसदी पर पहुंच गया है। 5 महीने के आंकड़े आने बाकी हैं। उम्मीद है कि इस बार भी 4 फीसदी की बढ़ोतरी होगी। हालांकि, विशेषज्ञ इस बात से इनकार कर रहे हैं कि 50 फीसदी के बाद महंगाई भत्ते को बेसिक सैलरी में मर्ज कर दिया जाएगा।