Thursday , July 25 2024

BoneCancer: बच्चों में तेजी से बढ़ रहा है बोन कैंसर, ये लक्षण हैं बोन कैंसर के संकेत

हर साल लाखों लोग कैंसर से मरते हैं। भारत में नौ में से एक व्यक्ति को कैंसर होने का खतरा है , चाहे वह पुरुष हो या महिला। समय के साथ इस बीमारी का खतरा तेजी से बढ़ता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक इस बीमारी का मुख्य कारण आनुवंशिक भी हो सकता है।

सबसे खतरनाक बात यह है कि अव्यवस्थित खान-पान और जीवनशैली के कारण अक्सर लोग कम उम्र में ही कैंसर का शिकार हो जाते हैं। आजकल हर उम्र के लोगों में कैंसर का खतरा बढ़ गया है।

इसकी वजह से बच्चों को कैंसर हो जाता है

हड्डी का कैंसर एक दुर्लभ प्रकार का कैंसर है जो हड्डियों में शुरू होता है। हड्डियों में लगातार दर्द , सूजन , मामूली चोटों के कारण फ्रैक्चर और जोड़ों में दर्द हड्डी के कैंसर के सबसे आम लक्षण हैं।

बच्चों में हड्डी का कैंसर तेजी से बढ़ रहा है। कुछ बच्चों में कैंसर का पारिवारिक इतिहास होता है। यदि बच्चे के परिवार में कोई धूम्रपान करता है , तो बच्चों में कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। रेडिएशन के अत्यधिक संपर्क में आने से कैंसर का खतरा तेजी से बढ़ता है।

ये समस्याएं बच्चों में कम शारीरिक गतिविधि के कारण होती हैं।

आजकल बच्चों में कैंसर तेजी से बढ़ रहा है। बच्चों में कैंसर वयस्कों से काफी अलग होता है। क्योंकि, वयस्कों की तुलना में , बच्चों को वह सब कुछ सहन नहीं करना पड़ता जो वयस्क करते हैं।

वयस्कों में कैंसर के कई कारण हो सकते हैं जैसे जीवनशैली , धूम्रपान , शराब, तनाव।

ऐसा कोई कारण नहीं है कि बच्चों को न तो शराब पीना चाहिए और न ही धूम्रपान करना चाहिए। डाउन सिंड्रोम वाले बच्चों में भी कैंसर होने का खतरा अधिक होता है। अगर किसी बच्चे की जीवनशैली और खान-पान की आदतें अच्छी नहीं हैं और वह अक्सर पिज्जा , बर्गर , चाउमीन और फ्रेंच फ्राइज़ खाता है, तो उसे कैंसर जैसी बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।