Sunday , June 23 2024

सुनील छेत्री के करियर का आखिरी अध्याय खत्म, कुवैत के खिलाफ खेला आखिरी मैच

भारत और कुवैत के बीच फीफा विश्व कप 2026 का क्वालीफायर मैच 0-0 से ड्रॉ पर समाप्त हुआ। यह मैच कोलकाता के साल्ट लेक स्टेडियम में खेला गया था और यह भारतीय कप्तान सुनील छेत्री के करियर का आखिरी मैच था। भारत को अंतिम-18 में पहुंचने के लिए यह मैच जीतना जरूरी था। भारत अभी भी अगले चरण में जा सकता है, लेकिन उसे दूसरे मैचों पर निर्भर रहना होगा. मैच के बाद टीम साथियों ने छेत्री को गार्ड ऑफ ऑनर देकर सम्मानित किया। इस दौरान वह भावुक भी हो गये. पहले और दूसरे हाफ में भारत को गोल करने के कई मौके मिले, लेकिन भारत एक भी मौके को भुना नहीं सका. भारत का अगला मुकाबला 11 जून को कतर से होगा.

लोगों ने छेत्री का खड़े होकर अभिनंदन किया

भारतीय कप्तान को लगातार कुवैती डिफेंस को भेदने की कोशिश करते देखा गया, लेकिन आखिरी मिनट तक उनकी सारी कोशिशें बेकार साबित हुईं। ड्रा का एक बड़ा कारण यह था कि भारतीय टीम की रक्षा कई बार खराब दिखी, जिसके कारण कुवैत कई मौकों पर गोल करने के बहुत करीब पहुंच गया। आक्रमण विभाग में भारतीय टीम एक बार फिर सुनील छेत्री पर निर्भर दिखी. मैच के बाद साल्ट लेक स्टेडियम में लगभग 58,000 लोगों ने उनका खड़े होकर अभिनंदन किया।

साथियों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया

हालाँकि कुवैत के साथ भारत का मैच ड्रॉ रहा लेकिन इसके बाद सभी की निगाहें सुनील छेत्री पर थीं। पूरी भारतीय टीम ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया, लेकिन इस पल ने उन्हें भावुक कर दिया. सुनील अपने आंसू नहीं रोक पाए और अपनी जर्सी से अपने आंसू पोंछते नजर आए.

 

 

 

 

करियर में 94 गोल किये

सुनील छेत्री ने अपने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल करियर में 151 मैच खेले, जिसमें 94 गोल किये। सुनील भारतीय टीम के लिए अब तक के इतिहास में सबसे ज्यादा 4 हैट्रिक लेने वाले खिलाड़ी भी थे. छेत्री अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में दुनिया के चौथे सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी थे। सूची में उनसे ऊपर पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो (128), ईरान के अली दाई (108) और अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी (106) हैं।