Wednesday , February 1 2023
Home / धर्म / वास्तु शांति मुहूर्त 2022: घर, दुकान, ऑफिस में वास्तु दोष? दिसंबर में बन रहा है वास्तुपूजा का शुभ संयोग, इस मुहूर्त में करें पूजा

वास्तु शांति मुहूर्त 2022: घर, दुकान, ऑफिस में वास्तु दोष? दिसंबर में बन रहा है वास्तुपूजा का शुभ संयोग, इस मुहूर्त में करें पूजा

वास्तु शांति पूजा 2022 : वास्तु शांति पूजा घर के अंदर की सभी नकारात्मक ऊर्जाओं को नष्ट कर देती है। आइए जानते हैं दिसंबर 2022 में वास्तु शांति के लिए क्या शुभ योग बन रहा है।

हर कोई चाहता है कि उसका घर हो। उस घर में रहना जीवन का एक नया अध्याय शुरू करने जैसा है। शुभ मुहूर्त में शुभ कार्य शुरू करना हिंदू धर्म में बहुत महत्वपूर्ण है।किसी भी घर में प्रवेश करने के लिए शुभ मुहूर्त देखना आवश्यक है, ताकि नए घर में सकारात्मक ऊर्जा और समृद्धि बनी रहे। साथ ही वास्तु दोष की शांति के लिए पूजा करने का यह शुभ मुहूर्त माना जाता है। आइए जानें दिसंबर 2022 में घर, दुकान में प्रवेश और वास्तु शांति के शुभ मुहूर्त क्या हैं।

2 दिसंबर 2022

मुहूर्त – 2 दिसंबर 2022, 06:59 प्रातः – 3 दिसम्बर 2022, प्रातः 07:00

3 दिसंबर 2022

मुहूर्त – 3 दिसंबर 2022, प्रातः 07:00 – 4 दिसम्बर 2022, प्रातः 05:34

8 दिसंबर 2022

मुहूर्त – 8 दिसंबर 2022, 09:37 प्रातः – 9 दिसम्बर 2022, प्रातः 07:04

9 दिसंबर 2022

मुहूर्त – प्रातः 07:04 – दोपहर 02:59 तक

19 दिसंबर 2022

मुहूर्त – 07:10 AM – 10:31 AM

वास्तु शांति पूजा मुहूर्त (वास्तु शांति मुहूर्त 2022)

घर में वास्तु दोषों को दूर करने के लिए आप दिसंबर में इस शुभ मुहूर्त के दौरान वास्तु शांति पूजा कर सकते हैं। घर में क्लेश, घर के सदस्यों को आर्थिक नुकसान, आने वाले दिनों में किसी का बीमार होना, घर में नकारात्मक ऊर्जा का होना वास्तु दोष का कारण बन सकता है। ऐसा माना जाता है कि वास्तु शांति पूजा घर के अंदर की सभी नकारात्मक ऊर्जाओं को नष्ट कर देती है और एक बार फिर घर खुशियों और देवी लक्ष्मी से भर जाता है।

वास्तु शांति पूजा के लाभ

वास्तु पूजा के माध्यम से नकारात्मक ऊर्जा के एक क्षेत्र को शुद्ध करना एक शक्तिशाली अनुष्ठान है जो किसी के जीवन और परिवेश की गुणवत्ता में सुधार करने में भी मदद कर सकता है। इस पूजा के प्रभाव से किसी स्थान विशेष से नकारात्मक प्रभाव का संचार समाप्त हो जाता है और वहां सुख-समृद्धि का वास होता है।

Check Also

कान्हा की नगरी मथुरा में शुरू होगा 40 दिनों का रंगोत्सव, व्रजनी होली का अनूठा महत्व

कान्हा की नगरी मथुरा में शुरू होगा 40 दिनों का रंगोत्सव, व्रजनी होली का अनूठा महत्व

होली हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है। यह त्योहार पूरे भारत में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता ...