Wednesday , February 21 2024

वारेन बफेट ने पेटीएम से अपनी पूरी हिस्सेदारी खत्म की

नई दिल्ली, 24 नवंबर (हि.स.)। दुनिया के सबसे बड़े शेयर निवेशकों में से एक अमेरिकी कारोबारी वारेन बफेट की कंपनी बर्कशायर हैथवे ने पेटीएम (वन 97 कम्युनिकेशन) से अपनी पूरी हिस्सेदार खत्म कर दी है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) द्वारा जारी बल्क डील डाटा के मुताबिक बर्कशायर हैथवे ने पेटीएम में मौजूद अपनी हिस्सेदारी कॉप्टहॉल मॉरीशस इन्वेस्टमेंट और घिसालो मास्टर फंड को बची है। कॉप्टहॉल मॉरीशस इन्वेस्टमेंट को बर्कशायर हैथवे ने 75,75,529 शेयर बेचे हैं जबकि घिसालो मास्टर फंड ने बर्कशायर हैथवे से पेटीएम के 42,75,000 शेयर खरीदे हैं।

एनएसई के बल्क डील डाटा के मुताबिक शेयरों की बिक्री 877.20 रुपये प्रति शेयर की औसत कीमत पर हुई है। इस डील के बाद बर्कशायर हैथवे को कॉप्टहॉल मॉरीशस इन्वेस्टमेंट और घिसालो मास्टर फंड से कुल करीब 1,371 करोड़ रुपये मिले हैं। स्टॉक एक्सचेंज के शेयर होल्डिंग डाटा के मुताबिक सितंबर के अंत में बर्कशायर हैथवे के पास पेटीएम के कुल 1,56,23,529 शेयर थे। इस लिहाज से पेटीएम में बर्कशायर हैथवे की हिस्सेदारी 2.46 प्रतिशत की थी। लेकिन सितंबर के बाद से ही बर्कशायर हैथवे ने पेटीएम के शेयरों की बिक्री छोटे छोटे टुकड़ों में ओपन मार्केट ट्रांजेक्शन के जरिये शुरू कर दी थी, जिसका अंत अब कॉप्टहॉल मॉरीशस इन्वेस्टमेंट और घिसालो मास्टर फंड के साथ हुई इस बल्क डील के साथ हुआ है।

आपको बता दें कि बर्कशायर हैथवे ने प्री-आईपीओ इन्वेस्टर के रूप में पेटीएम के शेयरों को औसतन 1,279.70 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से खरीदा था। कंपनी इन शेयरों को काफी पहले ही बेच देना चाहती थी। लेकिन पेटीएम के शेयरों में आई जबर्दस्त गिरावट की वजह से बर्कशायर हैथवे ने शेयरों की बिक्री के इरादे को कुछ समय के लिए टाल दिया था। अब पेटीएम के शेयरों में रिकवरी शुरू होने के बाद प्री आईपीओ इन्वेस्टर्स ने अपने पास मौजूद पेटीएम के शेयरों की बिक्री शुरू कर दी है। बर्कशायर हैथवे के अलावा सॉफ्ट बैक भी ओपन मार्केट में छोटे-छोटे टुकड़ों में पेटीएम के शेयरों की लगातार बिक्री कर रही है। सॉफ्ट बैंक का इरादा दिसंबर तक पेटीएम में मौजूद अपनी हिस्सेदारी को पूरी तरह से खत्म कर देने का है।