Wednesday , February 1 2023
Home / उत्तर प्रदेश / लीडरशिप समिट में योगी सरकार को मिले एक लाख करोड़ से अधिक के निवेश प्रस्ताव

लीडरशिप समिट में योगी सरकार को मिले एक लाख करोड़ से अधिक के निवेश प्रस्ताव

लखनऊ, 29 नवम्बर (हि.स.)। उद्योग जगत की प्रतिनिधि संस्था एसोसिएटेड चैंबर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री यूपी की आज होटल ताज में आयोजित लीडरशिप समिट में एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए। योगी सरकार के उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी व मुख्यमंत्री के सलाहकार अवनीश अवस्थी की मौजूदगी में देश-विदेश से आए निवेशकों ने उत्तर प्रदेश में एक लाख करोड़ रुपये से अधिक निवेश के प्रस्ताव पेश किए।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा फरवरी में प्रस्तावित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट को सफल बनाने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों की कड़ी में यह पहला आयोजन किया गया था। यहां आए देश के जाने माने निवेशकों ने उत्तर प्रदेश में निवेश में ख़ासी रुचि दिखाई व एक स्वर से उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था और योगी सरकार के किए जा रहे औद्योगिक विकास के प्रयासों को सराहा। चेंबर के अध्यक्ष व फैजाबाद की सुप्रसिद्ध केएम शुगर मिल के चेयरमैन एलके झुनझुनवाला, इकाना इंटरनेशनल स्टेडियम के चेयरमैन संजय सिन्हा व सीईओ आर.के. शरण ने मंत्रियों, उद्योगपतियों, निवेशकों का स्वागत किया।

उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने समिट में उपस्थित निवेशकों का स्वागत करते हुए उन्हें हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि यूपी सरकार ने निवेशकों की समस्याओं के समाधान के लिए अलग सेल बनाया है। उप मुख्यमंत्री ने राज्य में निवेशकों को बढ़ावा देने के लिए चैंबर के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश भारत में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है और अपराध के प्रति जीरो टॉलरेंस बनाए हुए हैं। कानून व्यवस्था की स्थिति में काफी सुधार हुआ है।

कैश कम भी हो तो अपना क्रेडिट बढ़ाते रहें कारोबारी : नंदी

प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने वहां मौजूद निवेशकों के निवेश प्रस्तावों को सुना व उन्हें हर संभव सहायता का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में अभूतपूर्व विकास हो रहा है। कारोबारियों को नसीहत देते हुए उन्होंने कहा कि भले ही किसी के पास कैश कम हो लेकिन उन्हें अपना क्रेडिट बढ़ाते रहना चाहिए। अपने भरोसेमंद व्यवहार से हमेशा साख बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए। यदि कारोबारी ऐसा कर पाए तो निवेश के लिए उन्हें कभी भी पैसों की कमी नहीं होगी। बैंक उनकी मांग पर मनचाहा उधार देने को तैयार हो जाएंगे। नंदी ने निवेशकों से उत्तर प्रदेश के सभी अंचलों में निवेश का अनुरोध किया।

मंत्री नंदी ने आज कार्यक्रम में आए अप्रत्याशित निवेश प्रस्तावों से उत्साहित होकर एसोसिएटेड चैंबर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री यूपी को उत्तर प्रदेश में एक लाख पचास हजार करोड़ रुपये के निवेश का लक्ष्य दिया है।

निवेशकों की सुविधा के लिए बनेगा उप्र का पहला निजी वॉर रूम

औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी व मुख्यमंत्री के सलाहकार अवनीश अवस्थी की मौजूदगी में आज चैंबर की इकोनॉमिक पॉलिसी एंड टैक्सेशन कमेटी के चेयरमैन मनीष खेमका और कोटक महिंद्रा बैंक के उत्तर प्रदेश प्रमुख शशांक मिश्रा व दीपक कटियार ने एक एमओयू पर हस्ताक्षर किया। इसके तहत उत्तर प्रदेश में अपनी तरह का पहला निजी क्षेत्र का टैक्स डिपॉज़िट वॉर रूम बनाया जाना प्रस्तावित है।

इस वॉर रूम पर केंद्र व प्रदेश सरकार के सभी करों जैसे आयकर, जीएसटी व अन्य स्थानीय करों व शुल्कों को सरलता से जमा करने की सुविधा होगी। साथ ही निवेशकों के लिए आवश्यक फाइनेंस व बैंकिंग से संबंधित अन्य सुविधाएं भी इस केन्द्र पर उपलब्ध रहेंगी। गौरतलब है कि विगत एक दशक से सरकार के राजस्व व करदाताओं के हितों से संबंधित नीतिगत विषयों पर काम करने वाले खेमका वर्तमान में जीएसटी काउंसिल उत्तर प्रदेश की ग्रीवांस रिड्रेसल कमेटी के सदस्य भी हैं।

लाइफ़टाइम अचीवमेंट अवार्ड

औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने भारतीय स्टेट बैंक के मुख्य महाप्रबंधक अजय खन्ना को बैंक और राष्ट्र के प्रति उनकी समर्पित और प्रतिबद्ध सेवा के लिए लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार प्रदान किया। साथ ही पूरे देश में स्वास्थ्य और स्वच्छता को बढ़ावा देने में अनुकरणीय योगदान के लिए सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक बिंदेश्वर पाठक को भी लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड प्रदान किया गया।

मुख्यमंत्री के सलाहकार अवनीश कुमार अवस्थी ने निवेशकों को आमंत्रित करने और यूपी को सहयोग करने के लिए चैंबर को बधाई दी। उन्होंने एक कोर टीम बनाकर राज्य सरकार से संपर्क करने का सुझाव दिया।

एमएसएमई विभाग के सचिव प्रांजल यादव ने योगी सरकार की उद्योग से संबंधित महत्वपूर्ण योजनाओं व एमएसएमई पॉलिसी का प्रजेंटेशन दिया व टेक्सटाइल सेक्टर में अपार संभावनाओं के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में निवेश का आह्वान किया।

प्रो. डीपी सिंह, मुख्यमंत्री के शिक्षा सलाहकार ने निवेशकों का स्वागत किया और अपनी कोर टीम से समर्थन का आश्वासन दिया। डीपी सिंह ने निवेश में विभिन्न महत्वपूर्ण प्रावधानों और प्रोत्साहनों की व्याख्या की।

उद्योगपति के अनुरोध पर मंत्री नंदी ने दिए सुधार के त्वरित निर्देश

सुप्रसिद्ध हीरो साइकिल समूह की एक अन्य कंपनी हीरो लेक्टरो ई-साइकिल के युवा सीईओ आदित्य मुंजाल ने औद्योगिक विकास मंत्री नंदी से ई-साइकिल को उत्तर प्रदेश की औद्योगिक नीति में प्राथमिकता देने की मांग की। होटल ताज में लंच के दौरान उन्होंने यह अनुरोध औद्योगिक विकास मंत्री से किया। नंदी ने मुंजाल की इस मांग पर सहमति जताते हुए वहां मौजूद मुख्यमंत्री के सलाहकार अवनीश अवस्थी से तत्काल आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया। अवस्थी ने मौके पर ही उन्हें आश्वासन देते हुए इस आशय का पत्र सौंपने को कहा जिससे मुख्यमंत्री की सहमति के बाद इस पर अमल किया जा सके। सरकार की इस त्वरित कार्रवाई पर आदित्य मुंजाल ने प्रसन्नता जतायी।

यूपी लीडरशिप समिट का मुख्य आकर्षण 100 से अधिक निवेशकों की भागीदारी रही, जिन्होंने उत्तर प्रदेश में एक लाख करोड़ रुपये से अधिक के निवेश में रुचि दिखाई। इसमें नॉर्वे से आयीं नॉर्वेयिन ग्रीनटेक कंपनी की युवा सीईओ एडियम नेगासी, मलेशियन पाम ऑयल काउंसिल की भारत बांग्लादेश नेपाल और श्रीलंका की रीजनल हेड भावना शाह, एवन साइकिल के एमडी सरदार ओंकार सिंह पाहवा, सुप्रसिद्ध हीरो साइकिल समूह की एक अन्य कंपनी हीरो लेक्टरो ई साइकिल के युवा सीईओ आदित्य मुंजाल, लुधियाना के सुप्रसिद्ध उद्योगपति उपकार सिंह आहूजा, टेट्रा पैक साउथ एशिया के हिमांशु प्रियदर्शी, एनर्जी विशेषज्ञ आरकस मीडिया की जुही राजपूत, टेक्निकल एसोसिएट के विनम्र अग्रवाल, टीआर मिश्रा, आयशर ट्रैक्टर्स के डीजीएम मार्केटिंग संजय कुमार उपाध्याय, सोलथर्म एनर्जी सॉल्यूशंस के डीपी मिश्रा, एवन पैसिफ़िक फॉर्मेशन के अजय कुशवाहा और अमित मिश्रा एवं फ्रीडम इंफ्राटेक के सत्यवान गौतम आदि प्रमुख थे।

ग़ौरतलब है कि एसोसिएट चैंबर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री यूपी की स्थापना 1994 में मोदी रबर-जेरॉक्स-स्पाइस टेलिकॉम फ़ेम सुप्रसिद्ध उद्योगपति बीके मोदी ने की थी। मुख्यतः उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास पर केंद्रित यह इंडस्ट्री चेंबर अपनी स्थापना की रजत जयंती मना रहा है। उल्लेखनीय है कि दैनिक जागरण अख़बार के दिवंगत संपादक व उद्योगपति नरेन्द्र मोहन समेत मोदीनगर के यूके मोदी, रेड टेप इंटरनेशनल कानपुर के इरशाद मिर्ज़ा व राठी स्टील ग़ाज़ियाबाद के अनिल राठी पूर्व में एसोसिएटेड चैंबर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री यूपी के अध्यक्ष रहे हैं। वर्तमान में वरिष्ठ उद्योगपति के एम शुगर मिल फ़ैज़ाबाद के एल के झुनझुनवाला इसके अध्यक्ष हैं।

यूपी लीडरशिप समिट 2022 में प्रमुख रूप से एसोसिएट चैंबर्स के सीईओ आरके शरण, पूर्व अध्यक्ष शैलेंद्र जैन, तारिक हसन नकवी, मनीष खेमका, विनीत गुप्ता, वीरेंद्र नाथ गुप्ता, संजय गुप्ता, उत्तर प्रदेश आदर्श व्यापार मंडल के संजय गुप्ता, राजीव कक्कड़, सुजीत सिंह, शिल्पा सूरेवाला और व्यापार जगत के देश विदेश के अनेक प्रतिष्ठित व्यक्ति उपस्थित थे।

Check Also

अयोध्या राम मंदिर : 6 लाख साल पुराने नेपाल के पत्थर से बनेगी श्रीरामलला की मूर्ति, क्या है शालिग्राम पत्थर और क्या है इसका महत्व?

अयोध्या राम मंदिर : 6 लाख साल पुराने नेपाल के पत्थर से बनेगी श्रीरामलला की मूर्ति, क्या है शालिग्राम पत्थर और क्या है इसका महत्व?

अयोध्या राम मंदिर राम सीता की मूर्ति : अयोध्या में राम मंदिर में रामलला और सीता माता ...