Sunday , June 23 2024

पुलिस पदाधिकारियों को सरायरंजन स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज सभागार में प्रशिक्षित किया गया

समस्तीपुर, 10 जून (हि.स. )। नये कानून को लेकर पुलिस पदाधिकारियों को सरायरंजन स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज सभागार में प्रशिक्षित किया जा रहा है।

यह प्रशिक्षण कार्यक्रम आज 10 जून से 20 जून तक तीन चरणों में चलेगा। इसमें समस्तीपुर जिलाबल के पुलिस उपाधीक्षक, पुलिस निरीक्षक, पुलिस अवर निरीक्षक, सहायक अवर निरीक्षक, पीटीसी उत्तीर्ण सिपाहियों को नए आपराधिक कानूनों की जानकारी दी जा रही है।

वेब कास्टिंग के जरिए पटना से जुड़े सभी पुलिसकर्मियों को 1 जुलाई से लागू होने वाले भारतीय न्याय संहिता 2023, भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता 2023, भारतीय साक्ष्य अधिनियम 2023 के बारे में गहन जानकारी दी जा रही है।

इस कार्यक्रम का उद्घाटन बिहार के डीजीपी आरएस भारती ने किया।नए आपराधिक कानून के अलावा इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में अनुसंधान के समय में कैसे विधि विज्ञान का प्रयोग कर सकते हैं और किस तरह से डिजिटल पुलिसिंग को बढ़ावा दे सकते हैं इसके बारे में भी पुलिस पदाधिकारी को प्रशिक्षित किया जा रहा है। गंभीर अपराध के घटनास्थल पर उपलब्ध साक्ष्य को किस तरह संकलन करना है, घटनास्थल की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी कैसे करनी है इसके लिए विधि विज्ञान के विशेषज्ञ भी मौजूद रहेंगे।

इनके द्वारा पदाधिकारियों को ट्रेनिंग दी जा रही है। पुलिस अपना डिजिटलाइजेशन पूरी कर ली है, अब सीसीटीएनएस को बहुत जल्द आईसीजेएस से जोड़ दिया जाएगा। यानी पुलिस पूरी तरह से डिजिटल होगी। वहीं अनुसंधानकर्ताओं को लैपटॉप और स्मार्टफोन भी उपलब्ध कराया जाएगा जिससे काम करने में उन्हें काफी सहूलियत होगी।