Wednesday , May 22 2024

दक्षिणी नेपाल में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई स्कूलों ने की छुट्टी

काठमांडू, 29 अप्रैल (हि.स.)। नेपाल के तराई क्षेत्र में अप्रैल के आखिरी सप्ताह में पड़ रही भीषण गर्मी आने वाले दिनों में लोगों की परेशानी बढ़ाने वाली है। बढ़ते तापमान के कारण कई स्थानों पर स्कूलों को बन्द करना पड़ा है। लोगों के रोजमर्रा के कामकाज पर भी असर पड़ा है।

अप्रैल के अन्तिम हफ्ते में जहां आमतौर पर नेपाल के दक्षिणी हिस्से का तापमान 32-35 डिग्री सेल्सियस रहा करता था, इस बार इसी समय कई स्थानों का तापमान 40 डिग्री के पार हो गया है। इतना ही नहीं, काठमांडू के तापमान में भी बढ़ोतरी हुई है। सामान्य तौर पर काठमांडू में अप्रैल में तापमान 25-28 डिग्री हुआ करता था लेकिन इस समय काठमांडू का भी तापमान 33 डिग्री तक पहुंच गया है।

मौसम विभाग के मुताबिक गर्मी अपना प्रचण्ड रूप दिखा रही है । तराई में लगातार तापमान बढ़ रहा है। पिछले डेढ़ सप्ताह से अधिकतम और न्यूनतम दोनों तापमान में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। तराई में गर्म हवा और लू चल रही है। इसके कारण जनजीवन प्रभावित हो रहा है।

रविवार को तराई के पांच क्षेत्रों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस या उससे भी अधिक दर्ज किया गया। सबसे अधिक तापमान भैरहवा में 42.48 डिग्री सेल्सियस था। शनिवार को भी यहां 42.24 डिग्री ही था। इसी तरह रविवार को धरान में 40, विराटनगर में 40.2, सिमरा में 40.3 और जनकपुर में 41.1 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकार्ड किया है। धनगढ़ी और नेपालगंज का तापमान भी वैसे तो 40 डिग्री पहुंचा है लेकिन लू चलने की वजह से भीषण गर्मी है। नतीजतन, स्थानीय प्रशासन ने विद्यालयों को बन्द करने का आदेश दिया है।

मौसम विभाग की ओर से जारी चेतावनी के अनुसार कम से कम इस हफ्ते तक तराई के अधिकांश जिलों में गर्म हवा चलने के कारण भयंकर लू वाला मौसम रहने वाला है। विभाग ने लोगों को लू से बचने की सलाह दी है।

इधर, काठमांडू में भी दिन प्रतिदिन तापमान बढ़ रहा है। सामान्य तौर पर जहां गर्मी के चरम पर भी काठमांडू का तापमान 30 डिग्री के पार नहीं होता था, वहीं इस बार अप्रैल में ही तापमान 33 डिग्री के पार जा चुका है। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को काठमांडू का अधिकतम तापमान 33.3 है। रविवार को यहां का तापमान 32.7 डिग्री सेल्सियस था ।