Wednesday , May 22 2024

तनाव: तनाव एक गंभीर समस्या है, इसे हल्के में न लें

आधुनिक समय में तनाव एक आम समस्या बन गई है। कभी इंसान खुश होता है तो कभी दुखी. वे जीवन और मानव जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। जीवन में यह चलता रहता है, लेकिन अगर कोई हर समय दुखी रहता है तो यह अच्छा नहीं है। इसे तनाव कहा जाता है. तनाव से पीड़ित व्यक्ति हमेशा निराशावादी और दुखी रहता है। शारीरिक रूप से, तनाव मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द, पेट की समस्याएं और हृदय की समस्याओं जैसे लक्षणों का कारण बनता है। मानसिक रूप से यह चिंता, अवसाद और ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई का कारण बनता है। हालाँकि, तनाव की समस्याओं को समझना और इससे प्रभावी ढंग से निपटना इसके नकारात्मक प्रभावों को काफी हद तक कम कर सकता है।
अनेक समस्याओं का कारण
जब हम तनावग्रस्त होते हैं, तो हमारा शरीर एड्रेनालाईन और कोर्टिसोल जैसे हार्मोन जारी करता है। इन हार्मोनों के बढ़ने से शरीर की कार्यप्रणाली बदल जाती है और कई समस्याएं बढ़ने लगती हैं। वर्तमान समय में हम योग, ध्यान, व्यायाम करके इन समस्याओं को दूर कर सकते हैं। तनाव प्रबंधन के लिए शारीरिक गतिविधि एक और शक्तिशाली उपकरण है। व्यायाम न केवल एंडोर्फिन जारी करता है बल्कि तनाव से राहत और नींद में सुधार करने में भी मदद करता है। संतुलित आहार खाना इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह शरीर को बेहतर ढंग से कार्य करने और तनाव से अधिक प्रभावी ढंग से निपटने के लिए आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है।

शरीर में ऊर्जा की कमी महसूस होना

कार्यस्थल पर लंबे समय तक काम करने और भारी काम के बोझ से भी तनाव बढ़ता है। डिप्रेशन में कई बार जोड़ों में दर्द होने लगता है। जब हम अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के बजाय मन में ही रखने लगते हैं तो शरीर उन्हें दर्द के रूप में छोड़ना शुरू कर देता है। ऐसे में सिरदर्द और रीढ़ की हड्डी में दर्द भी रह सकता है. इसका शिकार होने पर व्यक्ति को शरीर में ऊर्जा की कमी महसूस होती है और पूरा दिन थकान महसूस होती है।

मजबूत सामाजिक संबंध बनाना महत्वपूर्ण है

आज समाज का एक बड़ा हिस्सा तनाव से ग्रस्त है। यह एक बहुत ही सामान्य लेकिन गंभीर समस्या है, जिससे निपटने के लिए मनोवैज्ञानिक की मदद की आवश्यकता होती है। तनाव कम करने के लिए मजबूत सामाजिक संबंध बनाना आवश्यक है। दोस्तों के साथ समय बिताने, दूसरों से मदद मांगने और सामुदायिक गतिविधियों में भाग लेने से तनाव के नकारात्मक प्रभावों से निपटने में मदद मिल सकती है। साथ ही, दूसरों की मदद करना तनाव का एक शक्तिशाली इलाज हो सकता है।

तनाव दूर करने में योग और ध्यान अहम भूमिका निभाते हैं। डॉक्टर भी तनाव दूर करने के लिए रोजाना योग और ध्यान करने की सलाह देते हैं। अगर आप इससे छुटकारा पाना चाहते हैं तो आपको अपना पसंदीदा संगीत जरूर सुनना चाहिए। इससे शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। तनाव कोई ऐसी बीमारी नहीं है जिससे हम लड़ नहीं सकते लेकिन इच्छा शक्ति होनी चाहिए जिससे तनाव उत्पन्न होता है।