Wednesday , February 21 2024

छठ में नाव परिचालन और सांस्कृतिक कार्यक्रम पर रहेगा प्रतिबंध : डीएम

बेगूसराय, 08 नवम्बर (हि.स.)। दीपावली, काली पूजा एव छठ पर्व के मद्देनजर जिले में विधि-व्यवस्था के सुचारू रूप से संधारण के लिए आज डीएम रोशन कुशवाहा ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से नगर आयुक्त, सभी एसडीओ, डीएसपी, सीओ, थानाध्यक्षों एवं अन्य पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया।

डीएम ने कहा कि दीपावली, काली पूजा एवं छठ पर्व के मद्देनजर आवश्यक है कि सभी पदाधिकारी अपने-अपने उत्तरदायित्वों का सही तरीके से निर्वहन करें। जिससे सभी पर्व का सफलतापूर्वक संपादन हो सके। छठ पर्व के आलोक में अनुमंडल एवं थाना स्तर पर अविलंब शांति समिति की बैठक करने का निर्देश दिया गया है।

डीएम ने क्षेत्र के घाटों का निरीक्षण कर उसकी वस्तुस्थिति के अनुश्रवण करते हुए खतरनाक घाटों को चिन्हित करने का निर्देश दिया। पूजा योग्य घाटों के खतरनाक हिस्सों तथा पूजा योग्य स्थलों के सीमांकन करने का भी निर्देश दिया गया। उन्होंने सभी घाटों पर नाव सहित प्रशिक्षित गोताखोरों के प्रतिनियुक्त करने के साथ सुरक्षा के अन्य व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया।

इसके साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर रोक लगाने, घाट जाने वाले सड़कों की साफ-सफाई, बिजली के तारों की मरम्मती, घाटों पर पटाखा पर प्रतिबंधित करने, घाटों पर निजी नावों का परिचालन रोकने एवं रोशनी की व्यवस्था करने के साथ ही छठ से संबंधित मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग पर पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति का भी निर्देश दिया।

डीएम ने कहा कि सभी छठ घाटों, तालाब, पोखरों में तीन फीट की गहराई में बैरिकेडिंग कराने तथा रस्सी से घेराबंदी कराकर बैरिकेडिंग पर लाल झंडा लगाने का भी निर्देश दिया गया है। छठ के दौरान किसी भी प्रकार की सांस्कृतिक कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी जाएगी। ना ही किसी प्रकार के सामुदायिक भोज या प्रसाद वितरण की अनुमति नही होगी।

डीएम ने सभी डीएसपी एवं थानाध्यक्षों को फरार अभियुक्तों के संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने, भीड़ प्रबंधन, ट्रैफिक व्यवस्था तथा छठ पूजा के दौरान आवश्यक संख्या में घाटों पर पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति संबंधी निर्देश दिया। जरूरत के अनुसार शांति समिति का पुनर्गठन करने, विसर्जन मार्ग का सत्यापन करने तथा मार्ग की ड्रोन से कड़ी निगरानी का निर्देश दिया गया है।