Wednesday , May 29 2024

चिंता और तनाव दूर करने के लिए क्या खाना चाहिए?

आजकल तनाव और चिंता एक आम समस्या है जिससे हर कोई परेशान है। लोगों को आते-जाते समय दबाव का सामना करना पड़ता है। आज की दुनिया में जब दुनिया हाथ में है तो दबाव हर पल बढ़ता जा रहा है। घर हो या ऑफिस तनावपूर्ण जीवन आम बात है। इसलिए हम हमेशा तनाव से छुटकारा पाने की कोशिश करते हैं, लेकिन इससे चिंता पैदा होती है।

खासतौर पर अगर हम एक मिनट भी इस मोबाइल या इंटरनेट के बिना रहें तो किसी तरह की चिंता पैदा होगी और इससे तनाव बढ़ेगा। हम इन गैजेट्स के बारे में जितनी अधिक शिकायत करेंगे उतना बेहतर होगा। लेकिन कुछ लोग इन गैजेट्स से दूर रहने पर चिंतित हो जाते हैं। लेकिन इस तनाव को दूर करने के लिए कुछ आहार संबंधी उपाय भी हैं।

हम जो भोजन खाते हैं वह हमारे तनाव और चिंता को प्रबंधित करने में भी हमारी मदद कर सकता है। खान-पान पर ध्यान देकर चिंता को कम किया जा सकता है। कई प्रकार के खाद्य पदार्थ भी चिंता से राहत दिलाने में कारगर साबित हुए हैं।

कभी-कभी किसी समस्या का सामना करने पर हम गहराई से सोचने लगते हैं तो इसका सीधा असर हमारे दिमाग पर पड़ता है। जब हम चिंतित होते हैं तो हमारा रवैया अलग होता है, यहां तक ​​कि जब हम तनावग्रस्त होते हैं तो हमारी भावना, स्थिति अलग होती है।

तो तनाव और चिंता से छुटकारा पाने के लिए किस तरह का खाना खाना चाहिए। आइए देखें कि कौन से खाद्य पदार्थ इन कारकों से बच सकते हैं।

चिंता को कम करने के लिए आप जामुन खा सकते हैं। इन फलों में एंटीऑक्सीडेंट और फाइटोन्यूट्रिएंट्स प्रचुर मात्रा में होते हैं जो चिंता और तनाव को कम करने में आपकी मदद करेंगे। यह बेरी विटामिन से भरपूर होती है। इन फलों को खाने से मन बहुत शांत रहता है। इसके अलावा अगर आप नियमित रूप से बादाम खाने की आदत डालें तो बेहतर होगा क्योंकि बादाम में शुगर और जिंक भरपूर मात्रा में होता है। यह मन को शांत करता है और भावनाओं को संतुलित करता है। इसके अलावा, कला तनाव हार्मोन कोर्टिसोल के स्तर को कम करने में भी प्रभावी ढंग से काम करती है।

रोजाना हरी, पीली और नारंगी सब्जियां खाने से मस्तिष्क में सेरोटोनिन के स्राव में मदद मिलती है। यह सेरोटोनिन हमारे शरीर में चिंता और तनाव पैदा करने वाले हार्मोन को नियंत्रित करता है। इसका मतलब यह है कि जब हम चिंतित महसूस करते हैं, तो निकलने वाले हार्मोन कम हो जाएंगे। यह सेरोटोनिन सामग्री मांस में भी पाई जाती है।

इसके अलावा, आसानी से उपलब्ध दलिया उन हार्मोनों को भी नियंत्रित कर सकता है जो हमारे तनाव और चिंता का कारण बनते हैं। ओट्स में पाए जाने वाले कार्बोहाइड्रेट मस्तिष्क में सेरोटोनिन उत्पादन को उत्तेजित करते हैं। यह कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण को धीमा कर देता है और सेरोटोनिन के प्रवाह को स्थिर कर देता है। इससे आपको किसी भी स्थिति में अपने गुस्से, चिंता और तनाव को प्रभावी ढंग से नियंत्रित करने में मदद मिलेगी।