Thursday , February 22 2024

किशोरी से दुष्कर्म में दो दोषियों को 20 साल की सजा

मेरठ, 08 नवम्बर (हि.स.)। किशोरी से दुष्कर्म के मामले में विशेष पॉक्सो कोर्ट ने दो आरोपितों को दोषी पाते हुए 20 वर्ष के कारावास की सजा सुनाई है। इसके साथ ही 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया।

पॉक्सो कोर्ट के विशेष लोक अभियोजक नरेंद्र चौहान और कुलदीप मोहन ने बताया कि कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के घसौली गांव निवासी एक व्यक्ति ने अपनी बेटी के साथ दुष्कर्म की शिकायत की थी। पीड़िता ने कहा कि 12 जून 2022 को उसकी नाबालिग बेटी घर से गायब हो गई थी। किशोरी को उसकी सहेली अपने साथ ले गई। इसके बाद रोहटा थाना क्षेत्र के अट्टा चिंदौड़ी गांव निवासी युवक ने उसे हरिद्वार ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और अपने माता-पिता के खिलाफ बयान देने के लिए धमकाया। इसके बाद किशोरी को कंकरखेड़ा थाने के बाहर छोड़कर फरार हो गए।

यह मामला विशेष न्यायाधीश पॉक्सो कोर्ट के एडीजी रामकिशोर पांडेय की अदालत में चल रहा था। अदालत ने इस मामले में पीड़िता की सहेली और आरोपित युवक को दोषी पाया और 20 वर्ष की सजा सुनाई। विशेष लोक अभियोजक ने बताया कि कोर्ट ने इस मामले में दोनों आरोपितों को पॉक्सो एक्ट के तहत 20-20 वर्ष के कारावास की सजा सुनाई है। इसके साथ ही 42 हजार रुपये का अर्थदंड लगाया है।