Monday , April 15 2024

कान दर्द: ये है आपके कान दर्द का रामबाण इलाज…! इन घरेलू नुस्खों से आपको राहत मिलेगी

कान दर्द का इलाज:  कान दर्द का घरेलू उपचार: कान दर्द एक आम बीमारी है लेकिन यह बहुत परेशानी का कारण बनती है जिसके कारण व्यक्ति को कोई भी काम करने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर कान का दर्द सर्दी या किसी संक्रमण के कारण होता है, ऐसी स्थिति में जल्द से जल्द विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है, लेकिन जब डॉक्टर आसपास न हो तो घर पर ही कुछ उपाय किए जा सकते हैं।

कान का दर्द कष्टकारी होता है:

कान के मध्य से लेकर गले के पीछे तक यूस्टेशियन ट्यूब होती है जो तरल पदार्थ पैदा करती है। इस ट्यूब में रुकावट के कारण जब अतिरिक्त तरल पदार्थ बनने लगता है तो कान के पर्दे पर दबाव बढ़ जाता है, जो दर्द का असली कारण है। अगर सही समय पर इलाज न किया जाए तो संक्रमण और भी बढ़ सकता है।

कान दर्द के असली कारण ये हैं:

-अगर सर्दी-खांसी लंबे समय तक रहे तो इससे कान में दर्द हो सकता है।

-कान का दर्द कान की नलिका के फटने के कारण होता है। तेज़ आवाज़, सिर पर चोट या कान में कोई वस्तु घुसने से स्क्रीन फट सकती है।

-कई बार कान में कीड़ा घुस जाता है, जिससे तेज दर्द होता है।

-तैरने या नहाने से कान में पानी आने से दर्द होता है।

-कान के मैल को समय-समय पर साफ करना जरूरी है, नहीं तो ज्यादा जमा होने पर दर्द होगा।

-बच्चों में कान दर्द का सबसे आम कारण ओटिटिस मीडिया है, जो संक्रमण के कारण होता है।

-दांत का बैक्टीरियल संक्रमण भी कान दर्द का कारण बन सकता है

-जबड़े में सूजन के कारण कानों में दर्द हो सकता है।

-कान में फुंसी होने से दर्द हो सकता है।

-कान में दर्द विमान के उतरने या उड़ान भरने के दौरान वायुमंडलीय दबाव में बदलाव के कारण होता है।

-साइनस संक्रमण के कारण भी कान दर्द की समस्या होती है।

कान दर्द से बचने के उपाय

-कान दर्द से बचने के लिए ठंडी चीजों से परहेज करें.

-नहाते समय सावधान रहें और कानों में पानी जाने से बचें।

-तेज संगीत या अन्य शोर सुनने से बचें।

-बासी या जंक फूड खाने की आदत छोड़ देना ही बेहतर है।

-किसी भी खतरनाक पदार्थ से कान साफ ​​करने का प्रयास न करें।

कान दर्द के लिए घरेलू उपचार कैसे तैयार करें?

1. लहसुन

सरसों के तेल में 2-2 बारीक कटी हुई लहसुन की कलियां गर्म करें और ठंडा होने पर छान लें। इसके बाद कान में 2 से 3 बूंदें डालने से आराम मिलेगा।

2. प्यास

एक चम्मच प्याज के रस को हल्का गर्म करके 2 से 3 बूंदें कान में डालने से आराम मिलता है। इस विधि को दिन में 3 बार दोहराएं।

3. तुलसी

यदि तुलसी के पत्तों का ताजा रस कान में लगाया जाए तो 1-2 दिन में कान का दर्द दूर हो जाएगा।

4. नीम

नीम की पत्तियों का रस निकालकर 2 से 3 बूंदें कान में डालने से कान के दर्द और संक्रमण से राहत मिलती है।

5. अदरक

अदरक का रस निकालकर 2 से 3 बूंदें कान में डालें। इसके अलावा अदरक को पीसकर जैतून के तेल में मिलाकर छान लें और 2-3 बूंदें कान में डालें।