Wednesday , February 1 2023
Home / हेल्थ &फिटनेस / कंप्यूटर विजन सिंड्रोम क्या है, इसका कारण

कंप्यूटर विजन सिंड्रोम क्या है, इसका कारण

आंखें हमारे शरीर का सबसे अहम और कोमल अंग हैं। इसलिए आंखों की सुरक्षा बहुत सावधानी से करनी चाहिए। धूल, गंदगी और प्रदूषण के साथ-साथ कंप्यूटर स्क्रीन, टैब और मोबाइल फोन के सामने घंटों बैठने से आंखें कमजोर हो जाती हैं। इससे कंप्यूटर विजन सिंड्रोम की समस्या प्रभावित होने की संभावना रहती है। कंप्यूटर विजन सिंड्रोम वास्तव में क्या है? इसकी विशेषताएं क्या हैं? आइए जानते हैं क्या है इसका इलाज.. 

कंप्यूटर विजन सिंड्रोम इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के ज्यादा इस्तेमाल से होता है। इसे आमतौर पर डिजिटल आई स्ट्रेन के रूप में भी जाना जाता है। सर्वेक्षणों से पता चलता है कि यह कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम दुनिया भर में लगभग 60 मिलियन लोगों को प्रभावित करता है। अगर हमारी आंखों पर दबाव लंबे समय तक बढ़ता है तो आंखों की समस्या हो जाती है। आंखों की ये समस्याएं केवल वयस्कों तक ही सीमित नहीं हैं, जो बच्चे लंबे समय तक टैब या कंप्यूटर देखते रहते हैं, उन्हें भी ये समस्याएं हो सकती हैं।

कंप्यूटर आंखों को कैसे प्रभावित करते हैं?

जब आप हमेशा कंप्यूटर या अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को देखते रहते हैं.. तो आपकी आंखें हमेशा कंप्यूटर स्क्रीन को देखती रहती हैं। कंप्यूटर पर काम करने या पढ़ने के दौरान भी आपको आगे और पीछे स्क्रॉल करना पड़ता है। इससे आंखों की मांसपेशियों पर बहुत काम पड़ता है। 

कंप्यूटर विजन सिंड्रोम के कुछ सामान्य कारण

कंप्यूटर या टैब पर दैनिक पढ़ना या कंप्यूटर चश्मे का उपयोग नहीं करना

बढ़ती उम्र

बहुत कम रोशनी में पढ़ना और लिखना 

डिजिटल स्क्रीन पर बहुत अधिक प्रकाश

कंप्यूटर विजन सिंड्रोम के लक्षण: कंप्यूटर विजन सिंड्रोम से जुड़े सामान्य लक्षण और लक्षण

धुंधली दृष्टि या दोहरी दृष्टि

आँख की थकान

धुंधली दृष्टि

आंखों में जलन महसूस होना

सूखी, लाल आँखें

नम आँखें

सरदर्द

पीठ या गर्दन में दर्द

इसे कैसे कम करें?

अपने कंप्यूटर स्क्रीन के प्रभाव को कम करने के लिए अपने चारों ओर प्रकाश व्यवस्था बदलें। अगर खिड़की से रोशनी आ रही हो तो उसे पर्दे से ढक दें। डॉक्टर की सलाह लें और कॉन्टेक्ट लेंस और चश्मा पहनें। 

अपने डेस्क को अपने चेहरे से 20 से 28 इंच की दूरी पर, आंखों के ठीक नीचे रखें।

20-20-20 नियम का पालन करें। यानी अपनी आंखों को आराम देने के लिए हर 20 मिनट में 20 सेकंड के लिए कम से कम 20 फीट की दूरी पर देखें। 

अपने कंप्यूटर का फ़ॉन्ट आकार और प्रकाश व्यवस्था बदलें। इस तरह आपको अपनी आंखों पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत नहीं है। 

अगर आपकी आंखें अक्सर सूखी महसूस होती हैं तो उन्हें लुब्रिकेट करने के लिए आई ड्रॉप्स का इस्तेमाल करें।

Check Also

विटामिन सी की कमी: चेहरे पर पाए जाते हैं विटामिन सी की कमी के संकेत, हो सकती हैं ये 3 स्किन प्रॉब्लम्स

विटामिन सी की कमी: चेहरे पर पाए जाते हैं विटामिन सी की कमी के संकेत, हो सकती हैं ये 3 स्किन प्रॉब्लम्स

विटामिन सी की कमी: शरीर के इम्यून सिस्टम के लिए विटामिन सी बहुत जरूरी होता है, ...