Wednesday , February 21 2024

ओटीएस योजना में अब तक 8.50 लाख पंजीकरण तथा 680 करोड़ हुए जमा

लखनऊ, 24 नवम्बर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं के लिए लायी गयी ओटीएस योजना का पहला चरण 30 नवंबर को समाप्त हो रहा है। इसलिए योजना का लाभ उठाने के लिए समय से अपना पंजीकरण करा लें। योजना की अवधि को बढ़ाया नहीं जाएगा। विद्युत की चोरी के मामलों में छूट के लिए ओटीएस पहली और आखिरी बार है।

किसी भी परीक्षण खण्ड का पद रिक्त न रहे, वहां तत्काल तैनाती की जाय। प्रदेश में अटैच अभियंताओं को फील्ड में तैनात किया जाए। आरडीएसएस योजना के कार्यों को भी समय से निर्धारित मापदंडों के अनुरूप पूर्ण किया जाय। उप्र पावर काॅरपोरेशन के अध्यक्ष डॉ0 आशीष कुमार गोयल ने शुक्रवार को शक्ति भवन में समीक्षा के दौरान ये निर्देश दिये।

पावर काॅरपोरेशन के अध्यक्ष ने कहा कि विगत 08 नवंबर से प्रारम्भ एकमुश्त समाधान (ओटीएस) योजना में अब तक लगभग 8.50 लाख उपभोक्ताओं ने अपना पंजीकरण कराकर इसका लाभ उठाया है, जिसमें पावर काॅरपोरेशन को 680 करोड़ रूपये प्राप्त हुआ। अध्यक्ष ने आज शक्ति भवन में अवकाश के बावजूद विद्युत व्यवस्था एवं ओटीएस योजना का विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने कहा कि ओटीएस के माध्यम से विद्युत चोरी के मामलों में फंसे उपभोक्ताओं के लिये सुनहरा मौका है। उपभोक्ताओं से सम्पर्क करके ऐसे प्रकरणों को समाप्त कराइये।

लापरवाह अभियंताओं के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई के निर्देश

अध्यक्ष ने प्रबन्ध निदेशकों को संबोधित करते हुये कहा कि अवर अभियंता तक कार्यों का प्रतिदिन माॅनीटरिंग करें और जो लोग अपना कार्य और दायित्व का निर्वहन नहीं कर रहे हैं उनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करिये। साथ ही जो लोग ईमानदारी और मेहनत से कार्य करके बेहतर परिणाम दें रहे हैं, उनको पुरस्कृत भी करिये। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ए0टी0 एण्ड सी0 हानियों को कम करने हेतु लगातार कह रही है हमें हर हालात में इसे कम से कम डिजिट में लाना है। इसलिये अवर अभियंता से लेकर मुख्य अभियंता तक के कार्यों की नियमित समीक्षा होनी चाहिए। अध्यक्ष ने कहा कि प्रबन्ध निदेशकों तथा उच्चाधिकारियों को अपने अधिकारों का प्रयोग विभाग एवं प्रदेश के हितों के लिए सख्ती से करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस माह के अन्त में सभी के कार्यों की प्रगति का मूल्याकंन किया जायेगा और जिनकी प्रगति संतोषजनक नहीं होगी उनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा है कि ओटीएस के माध्यम से हर बकायेदार विद्युत राजस्व जमा करे इसके लिये प्रयास होना चाहिए। इसके लिये फोन घुमाओ अभियान से लेकर कैम्प लगाना, लाउडस्पीकर सहित विभिन्न माध्यमों से प्रचार-प्रसार करनें से लेकर सभी प्रयास किये जाये। उन्होंने निर्देशित किया कि हमें आईडीएफ पूरी तरह खत्म करना है। इसके लिये हर स्तर पर व्यापक प्रयास होना चाहिए। इसमें लापरवाही बिल्कुल बरदास्त नहीं की जायेगी।

छुटियों में भी होंगे ओटीएस और राजस्व वसूली सम्बन्धित सभी कार्य

अध्यक्ष ने यह भी निर्देश दिये हैं कि छुटियों में भी ओटीएस और राजस्व वसूली से सम्बन्धित सभी कार्य होंगे इसके लिये सम्बन्धित कार्यालय खुलेंगे और सामान्य कार्य दिवसों के अनुरूप विद्युत बिल जमा करनें तथा ओटीएस से सम्बन्धित कार्य होंगें। इसके लिये सभी आवश्यक निर्देश दे दिये जायें। प्रदेश की विद्युत व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिये उप्र पावर कारपोरेशन प्रबन्धन लगातार प्रयास कर रहा है। इसीक्रम में अध्यक्ष डा0 आशीष कुमार गोयल अधिकारियों से लगातार पूछताछ कर रहे हैं।

ओटीएस योजना का हो व्यापक प्रचार

अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश की विद्युत व्यवस्था को और बेहतर बनाना है इसके लिये जरूरी है कि जितनी बिजली दे उतना बिजली बिल वसूलें। उपभोक्ताओं की सुविधा एवं बकाया राजस्व वसूलने के उद्देश्य से ओटीएस आदि योजनायें लायी जाती हैं। इसमें लापरवाही बिल्कुल बरदास्त नहीं की जायेगी। उन्होंने निर्देशित किया कि जनता में इस बात का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये कि ओटीएस योजना में चोरी के प्रकरण पर पहली और आखरी बार छूट की सुविधा मिल रही है। इसका लाभ लेकर यदि कोई बकाया है तो वह जमा कर दे जिससे उन्हें विद्युत विच्छेदन आदि की कोई समस्या भविष्य में न हो।

दक्षिणांचल में नलकूप उपभोक्ताओं के लिए चल रही एक मुश्त समाधान योजना के सन्दर्भ में भ्रामक ट्वीट करने पर संबंधित संविदाकर्मी को सेवा से हटा दिया गया है साथ ही संबंधित सहायक अभियंता को निलम्बित तथा मुख्य अभियंता को चार्ज-शीट देने के निर्देश अध्यक्ष द्वारा दिए गए है।