Wednesday , February 21 2024

आपदा प्रबंधन प्राधिकरण एवं आईआईपीएच के सहयोग से बनेगी देश की पहली शीतकालीन कार्य योजना

Bsdma Program Fro Sheet Lahar Pi

पटना, 08 दिसम्बर (हि.स.)। बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण व इंडियन इंस्टीट्यूट आफ पब्लिक हेल्थ गांधीनगर के तत्वाधान में शीत लहर कार्य योजना पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन पटना में शुक्रवार को किया गया।

कार्यक्रम में स्वागत भाषण देते हुए सचिव मीनेंद्र कुमार ने कहा कि बिहार में शीतलहर हर वर्ष अपना गहरा प्रभाव डालता है। इस आपदा से बचाव के लिए नीतियों का निर्धारण व इसका कार्यान्वयन बहुत जरूरी है, इसके लिए सभी हितधारकों को साथ आकर कार्य करना होगा।

पीएन राय ने संबोधित करते हुए कहा कि विभाग क्या करें यह निर्णय बहुत जरूरी है। प्राधिकरण आपको टेक्निकल सहायता प्रदान कर सकता है जिसमें शीत लहर में प्रभावी रूप से कार्य किया जा सकता है।

मनीष कुमार वर्मा ने कहा कि प्राधिकरण और आईआईटी, पटना के सहयोग से विकसित किए जा रहे वियरेबल इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की विस्तार से चर्चा की तथा शीतलहर के क्षेत्र में भी इसी तरह कार्य करने पर बल दिया। उन्होंने बताया बिहार देश में आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में अग्रणी बन रहा है।

डॉ अनिश सिन्हा और डॉक्टर एस. यसोबंत, ने प्राधिकरण के सहयोग से शीतलहर से बचाव हेतु कार्य योजना के सापेक्ष जानकारी साझा की। मौसम सेवा केंद्र के डॉ सी एन प्रभु ने शीतलहर और मौसम के बदलते स्वरूप पर प्रजेंटेशन के माध्यम से प्रस्तुति दी। श्री एस. एन. जायसवाल ने जलवायु परिवर्तन वायु प्रदूषण पर अपने विचार साझा किया।

Source