Sunday , April 21 2024

अगर आपको भी पीरियड्स के दौरान होता है अत्यधिक दर्द, तो हो सकता है इस बीमारी का संकेत

पीरियड्स, जिसका सामना हर लड़की को हर महीने करना पड़ता है। एक महिला तभी स्वस्थ मानी जाती है जब उसका मासिक धर्म चक्र स्वस्थ हो। हालांकि, कुछ महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान बहुत दर्द होता है, जिसका असर उनकी जीवनशैली पर पड़ता है।

पीरियड्स के दौरान दर्द होना सामान्य बात है, लेकिन तेज दर्द एंडोमेट्रियोसिस का लक्षण हो सकता है। यह बीमारी महिला के गर्भाशय और अन्य अंगों तक फैल सकती है। अगर इस स्थिति का समय रहते इलाज न किया जाए तो कई महिलाएं मातृत्व का आनंद नहीं ले पाती हैं।

एंडोमेट्रियोसिस क्या है? इसके लक्षणों को कैसे पहचानें? आइए जानें…

महिलाओं के गर्भाशय में एंडोमेट्रियम नामक एक परत होती है। जब यह ऊतक गर्भाशय के बाहर फैलोपियन ट्यूब में फैलने लगता है, तो इसे एंडोमेट्रियोसिस कहा जाता है। यह ऊतक शरीर में कहीं भी फैल सकता है। यह आंतों, अपेंडिक्स, फेफड़ों, लीवर और मस्तिष्क में आसानी से पाया जा सकता है।

नेटवर्क 18 में छपी एक खबर के अनुसार, पीरियड्स के दौरान तेज दर्द होना एंडोमेट्रियोसिस का लक्षण है। यह बीमारी इतनी गंभीर है कि किसी भी महिला को चलने-फिरने या कोई भी काम करने में दिक्कत आ सकती है। अगर किसी महिला को यह बीमारी हो जाए तो उसका जीवन पूरी तरह से प्रभावित हो सकता है।

इस बीमारी से पीड़ित महिलाओं को मासिक धर्म से पहले और बाद में बहुत तेज दर्द हो सकता है। कई महिलाएं इसे नियंत्रित करने के लिए दर्द निवारक दवाओं का भी इस्तेमाल करती हैं, लेकिन यह शरीर के लिए बहुत हानिकारक साबित हो सकता है।

एंडोमेट्रियोसिस के कारण होने वाला दर्द बहुत ही असहनीय हो सकता है। इस दर्द के कारण महिलाएं डिप्रेशन का शिकार भी हो सकती हैं। एंडोमेट्रियोसिस के कारण पचास प्रतिशत महिलाएं प्रजनन संबंधी समस्याओं से पीड़ित होती हैं। प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए सर्जरी और अन्य उपचार की आवश्यकता होती है। अक्सर इस बीमारी का पता स्कैन के माध्यम से लगाना पड़ता है। एंडोमेट्रियोसिस एक गंभीर बीमारी है जिसे केवल दवा के माध्यम से ही नियंत्रित किया जा सकता है।