Saturday , August 13 2022
Home / विदेश / UAE ने अटकायी थी इमरान की सांसें, लेकिन अब उसके इस एक फैसले ने दी पाकिस्तान को बड़ी राहत, जानें क्या है मामला

UAE ने अटकायी थी इमरान की सांसें, लेकिन अब उसके इस एक फैसले ने दी पाकिस्तान को बड़ी राहत, जानें क्या है मामला

कर्ज और नकदी संकट का सामना कर रहे पाकिस्तान (Pakistan) को संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने बड़ी राहत दी है. UAE ने कंगाल पाकिस्तान को दो अरब डॉलर का कर्ज चुकाने के लिए और मोहलत दी है. पाकिस्तानी विदेश विभाग ने इसकी जानकारी दी है. इसने कहा कि अबू धाबी में विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mahmood Qureshi) तथा UAE के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायेद अल नाहयान (Abdullah bin Zayed Al Nahyan) के बीच हुई बैठक में यह फैसला किया गया.

पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा, UAE ने इस्लामाबाद की हर संभव मदद करने का भरोसा दिलाया है. कुरैशी ने कहा कि यह निर्णय दोनों देशों के बीच गर्मजोशी वाले और दोस्ताना संबंधों को दर्शाता है. उन्होंने यूएई के समर्थन और द्विपक्षीय सहयोग तथा अंतरराष्ट्रीय मंचों पर पाकिस्तान का साथ देने के लिए आभार जताया. गौरतलब है कि UAE ने इमरान खान की सरकार को कहा था कि वह 19 अप्रैल की डेडलाइन तक कर्जा चुकाए. इससे इमरान खान की सांस अटक गई थीं, क्योंकि अर्थव्यवस्था का बेड़ा गर्क होने से उनके पास कर्ज चुकाने के लिए पैसे नहीं थे.

सहयोगी देशों से 10 अरब डॉलर का कर्जा लिए हुए है पड़ोसी मुल्क

बता दें कि पाकिस्तान के ऊपर UAE का दो अरब डॉलर का कर्जा है. पाकिस्तान की बिगड़ती अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए UAE ने साल 2019 में इमरान सरकार को ये राशि दी थी. गौरतलब है कि पाकिस्तान ने सऊदी अरब, चीन समेत कई मुल्कों से कर्जा लिया हुआ है. पाकिस्तान ने अपने सहयोगी देशों के करीब 10 अरब डॉलर का कर्जा लिया हुआ है. इमरान सरकार ने इस कर्ज को अर्थव्यवस्था को सुधारने और सरकारी खजाने को भरने के लिए लिया था. लेकिन सरकार की कुनीतियों की वजह से अर्थव्यवस्था और बिगड़ गई है.

सऊदी ने भी बढ़ाई थी इमरान की टेंशन

इससे पहले, सऊदी अरब ने भी इमरान सरकार की चिंता बढ़ा दी थी. सऊदी ने पाकिस्तान को कहा था कि वह उसका 3 अरब डॉलर जल्द से जल्द चुकाए. साल 2018 में जब इमरान पाकिस्तान की सत्ता संभाली थी. उस दौरान सऊदी अरब ने पाकिस्तान को 6.2 अरब डॉलर का कर्ज दिया था. इस पैकेज में 3 बिलियन डॉलर का कर्ज और 3.2 बिलियन डॉलर की एक ऑयल क्रेडिट की सुविधा शामिल थी. लेकिन जब सऊदी के पाकिस्तान संग के रिश्ते बिगड़ने लगे उसने इस्लामाबाद को कर्जा चुकाने को कह दिया.

Check Also

बांग्लादेशी जिहादी संगठन के दो सदस्य हिरासत में, स्लिपर सेल के रूप में करते थे काम

मोरीगांव (असम), 13 अगस्त (हि.स.)। बांग्लादेशी जिहादी संगठन अंसारुल बांग्ला टीम (एबीटी) के स्लिपर सेल ...