Sunday , June 23 2024

POK News: पाकिस्तान के खिलाफ कश्मीरियों का प्रदर्शन

पाकिस्तान के कब्जे वाले पीओके में वहां के लोगों ने पाकिस्तानी अत्याचारों के खिलाफ बगावत शुरू कर दी है. जिसके बाद वहां युद्ध जैसे हालात पैदा हो गए हैं. शुक्रवार शाम को बड़ी संख्या में कश्मीरी पाकिस्तान के अत्याचारों के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं. विरोध प्रदर्शन को कुचलने के लिए पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने भारी बल प्रयोग किया है. पाकिस्तानी सेना द्वारा लोगों पर गोलीबारी करने की भी खबरें आई हैं. जानकारी के मुताबिक, 11 मई शनिवार को पाकिस्तान द्वारा टैक्स बढ़ोतरी के विरोध में पीओके के लोग बड़ी संख्या में विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. लेकिन एक दिन पहले ही विरोध को रोकने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा बलों को बुलाया गया था.

रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तानी सैनिकों ने विरोध को रोकने के लिए बिना कोई वारंट या नोटिस जारी किए मीरपुर जिले में 70 से अधिक कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया। इस घटना के बाद गुस्साई भीड़ सड़कों पर उतर आई। गिरफ्तारी के विरोध में आम जनता ने सुरक्षा बलों पर पथराव किया. तो पूरी स्थिति बहुत उग्र हो गई. ऐसे में स्थानीय प्रशासन ने तत्काल प्रभाव से धारा-144 लागू कर दी है.

पाकिस्तान बच्चों को भी नहीं छोड़ रहा है

पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों को कुचलने के लिए हिंसा का इस्तेमाल किया जा रहा है. पाकिस्तान प्रशासन ने अतिरिक्त जवानों की तैनाती की है. जिसमें पाकिस्तान रेंजर्स और फ्रंटियर कोर के जवानों को शामिल किया गया है. मिली जानकारी के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर ज्वाइंट एक्शन कमेटी ने लोक मार्च का ऐलान किया था. इसे रोकने के लिए 70 से अधिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। पाकिस्तानी सुरक्षा बल बच्चों को भी नहीं छोड़ रहे हैं. पुलिस ने आंसू गैस छोड़ी. इसकी चपेट में एक स्कूल के कई छात्र-छात्राएं आ गए।

इस साल फरवरी में हुए समझौते का पालन करने के लिए पाकिस्तान सरकार पर दबाव बनाने के लिए जम्मू-कश्मीर संयुक्त कार्रवाई समिति ने शुक्रवार को एक बैठक बुलाई। इसमें ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल भी शामिल थी. समिति ने पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद की सरकार पर समझौते को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया.