Sunday , August 14 2022
Home / बिहार / हाहाकार:बेड मिलने की आस में पड़ा रहा मरीज, 8 घंटे के बाद स्ट्रेचर पर ही लगा दिया ऑक्सीजन सिलेंडर

हाहाकार:बेड मिलने की आस में पड़ा रहा मरीज, 8 घंटे के बाद स्ट्रेचर पर ही लगा दिया ऑक्सीजन सिलेंडर

बेड नहीं मिला तो फर्श पर ही पति को लिटा बैठी रही पत्नी - Dainik Bhaskar

बेड नहीं मिला तो फर्श पर ही पति को लिटा बैठी रही पत्नी

  • सब जगह से निराश होकर आने वाले बड़े अस्पतालों से भी बैरंग लौट रहे

पीएमसीएच में भर्ती होने के लिए एक कोरोना मरीज रविवार की सुबह 5 बजे से बिना ऑक्सीजन के स्ट्रेचर पर पड़ा रहा। मरीज की पत्नी के काफी गुहार लगाने के बाद भी दोपहर 1 बजे स्ट्रेचर पर ही ऑक्सीजन लगा दिया गया। फुलवारीशरीफ के धनौत कॉलोनी से अपने पति को पीएमसीएच में भर्ती करवाने आई सोनी ने रोते हुए कहा-इनकी हालत गंभीर बनी हुई है। सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही है।

आसपास के सभी निजी अस्पताल में पता करने के बाद जब कहीं बेड नहीं मिला तो पीएमसीएच लेकर आए हैं। लेकिन यहां भी मेरे पति को भर्ती नहीं किया जा रहा है। वहीं पत्रकार नगर से आया एक गंभीर मरीज एंबुलेंस में बिना ऑक्सीजन के पड़ा रहा। जब उसकी हालत और गंभीर होने लगी तो उसके परिजन दूसरी जगह ले गए।

दानापुर रेलवे अस्पताल से भेजा आईजीआईएमएस, यहां से भी लौटा

आईजीआईएमएस में पटेल नगर से अपने पति को भर्ती करवाने आई अंजू देवी अस्पताल कर्मियों से बेड और ऑक्सीजन के लिए मिन्नतें करती रही। जब बेड नहीं मिला तो वही फर्श पर अपने पति को लिटा घंटों बैठी रही। दानापुर रेलवे हॉस्पिटल में वेंटिलेटर की सुविधा नहीं होने की वजह से आईजीआईएमएस में रेफर मरीज को भी बेड नहीं मिल पाया। कंकड़बाग से अपने पिता को भर्ती करवाने आई श्रुति ने बताया कि मेरे पिता दानापुर रेलवे कैंटीन में कार्यरत हैं। संक्रमित होने के बाद इनको दानापुर रेलवे अस्पताल में भर्ती करवाया। लेकिन वहां वेंटिलेटर की सुविधा नहीं होने की वजह से आईजीआईएमएस में रेफर कर दिया गया है लेकिन यहां भर्ती नहीं किया जा रहा है। यहां के डॉक्टरों द्वारा बस कुछ दवा लिख कर वापस भेजा जा रहा है।

खबरें और भी हैं…

Check Also

लालची राजनीति के खिलाफ पूर्व उपमुख्यमंत्री ने बिहार की महागठबंधन सरकार पर साधा निशाना

बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन सरकार के खिलाफ बीजेपी आक्रामक हो गई ...