Tuesday , August 16 2022
Home / विदेश / स्पेसएक्स क्रू ड्रैगन के सदस्य इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर किस तरह पहुंचे? NASA ने तस्वीर जारी कर बताया

स्पेसएक्स क्रू ड्रैगन के सदस्य इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर किस तरह पहुंचे? NASA ने तस्वीर जारी कर बताया

एलन मस्क (Elon Musk) की कंपनी स्पेसएक्स (SpaceX) का कैप्सूल स्पेसएक्स क्रू ड्रैगन (SpaceX Crew Dragon) शनिवार को इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (International Space Station) पर पहुंचा. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA ने ड्रैगन नाम वाले इस कैप्सूल के ISS पर पहुंचने की तस्वीर जारी की है. इस तस्वीर में ड्रैगन कैप्सूल के दरवाजे को खुलते हुए देखा जा सकता है. कैप्सूल में शामिल क्रू मेंबर्स हार्मनी मॉड्यूल के फॉरवर्ड-फेसिंग इंटरनेशनल डॉकिंग एडॉप्टर से जुड़ने के बाद एक्सपीडिशन 65 क्रू में शामिल हो गए.

स्पेसएक्स क्रू ड्रैगन ने एक दिन पहले ही फ्लोरिडा स्थित कैनेडी स्पेस सेंटर से ISS के लिए उड़ान भरी थी. ड्रैगन कैप्सूल एक दिन से भी कम समय में ISS पर पहुंच गया. इस कैप्सूल में शामिल अंतरिक्षयात्रियों में कमांडर शेन क्रिम्बॉह, पायलट मेगन मैकआर्थर, जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी के अंतरिक्षयात्री अकीहिको होशहिदे और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के थॉमस पेस्केट हैं. इन अंतरिक्षयात्रियों के ISS पहुंचने पर वहां अंतरिक्षयात्रियों की संख्या बढ़कर 11 हो गई जो करीब एक दशक में सबसे अधिक है.

Spacex Crew Dragon

ISS के करीब पहुंचने पर ड्रैगन कैप्सूल के दरवाजे खुलते हुए (NASA)

अंतरिक्ष एजेंसियों के प्रमुखों ने दी सभी को बधाई

अमेरिका, रूस, जापान और फ्रांस का प्रतिनिधित्व कर रहे सभी अंतरिक्षयात्री अंतरिक्ष एजेंसियों के नेताओं द्वारा बधाई संदेश देने के लिए किए गए कॉल के दौरान कैमरे के एक फ्रेम में नजर आए. जापानी अंतरिक्ष एजेंसी के प्रमुख हिरोशी यामाकावा ने उनके देश स्थित यान नियंत्रण केंद्र से बातचीत करते हुए कहा, विश्व की मुश्किल घड़ी में, मेरा मानना है कि आपने हमें हिम्मत और उम्मीद दी है. वह कोविड-19 महामारी का संदर्भ दे रहे थे.

स्पेसएक्स ने एक साल से कम समय में तीसरी बार अंतरिक्ष में भेजा क्रू

नये सिरे से तैयार किया गया स्पेसएक्स कैप्सूल (अंतरिक्ष यान) चार अंतरिक्षयात्रियों को लेकर शनिवार को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र (ISS) पहुंचा. एलन मस्क की कंपनी द्वारा एक साल से भी कम समय में करायी गयी यह तीसरी अंतरिक्ष यात्रा है. ड्रैगन नाम का यह कैप्सूल नासा के कैनेडी स्पेस सेंटर से रवाना होने के एक दिन बाद हिंद महासागर के ऊपर 420 किलोमीटर की ऊंचाई पर चक्कर लगा रहे ISS से स्वचालित तरीके से जुड़ गया.

छह महीने तक ISS पर रहेंगे अंतरिक्षयात्री

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के कार्यवाहक प्रशासक स्टीव जुरकिजइक ने कहा, आप सभी 11 लोगों को अंतरिक्ष केंद्र में देखना शानदार है. उन्होंने इस बात की ओर इशारा किया कि यह अब परिपाटी होगी और स्पेसएक्स नियमित रूप से अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर जाएगा. इस कैप्सूल की मदद से ISS पहुंचे चारों अंतरिक्ष यात्री अमेरिका, फ्रांस और जापान का प्रतिनिधित्व करते हैं और अगले छह महीने तक वहीं रहेंगे जबकि पहले से रह रहे चार आंतरिक्ष यात्री अपने ड्रैगन कैप्सूल से धरती पर लौटेंगे.

पहली बार पहले से प्रयोग किए गए यान का हुआ इस्तेमाल

NASA ने जानबूझकर वहां से वापसी करने वाले अंतरिक्षयात्रियों से पहले नए यात्रियों को भेजा ताकि पुराने अंतरिक्षयात्री उन्हें सभी जानकारी दे सके. हालांकि, NASA के लिए स्पेसएक्स की अंतरिक्षयात्रियों के साथ तीसरी उड़ान है. यह पहली बार है जब पहले इस्तेमाल किए गए यान का दोबारा इस्तेमाल किया गया है और मस्क द्वारा चांद और मंगल पर मनुष्य की यात्रा कराने की योजना के लिए जरूरी माना जा रहा है.

Check Also

अमेरिकी राष्ट्रपति व विदेश मंत्री ने दी भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर बधाई

वाशिंगटन, 15 अगस्त (हि.स.)। भारत के 76वें स्वतंत्रता दिवस पर अमेरिकी राष्ट्रपति व विदेशमंत्री ने ...