Sunday , May 19 2024

सूर्य ग्रहण 2024: सूर्य ग्रहण के दौरान जब हो जाएगा अंधेरा, पृथ्वी के छिपे ‘रहस्य’ को जानने के लिए NASA छोड़ेगा 3 रॉकेट

सूर्य ग्रहण 2024 समाचार: 8 अप्रैल, 2024 को सूर्य ग्रहण के दौरान, पृथ्वी के ऊपरी वायुमंडल पर कम सूरज की रोशनी के प्रभावों की जांच के लिए नासा तीन साउंडिंग रॉकेट लॉन्च करेगा। इसे वर्जीनिया में नासा की वॉलॉप्स फ्लाइट फैसिलिटी से लॉन्च किया जाएगा। 

ध्वनि रॉकेट को अक्टूबर 2023 के वलयाकार सूर्य ग्रहण के दौरान न्यू मैक्सिको में व्हाइट सीड्स टेस्ट फैसिलिटी से लॉन्च किया गया था। अब इनका जीर्णोद्धार कर नये उपकरणों से सुसज्जित कर दिया गया है। 

रॉकेट को तीन अलग-अलग समय पर लॉन्च किया जाएगा
। साउंडिंग रॉकेट को तीन अलग-अलग समय पर लॉन्च किया जाएगा। इसमें ग्रहण से पहले के पहले 45 मिनट, ग्रहण के दौरान के दूसरे 45 मिनट और ग्रहण के चरम के बाद के तीसरे मिनट शामिल हैं। 

ये समय अंतराल इस बारे में जानकारी इकट्ठा करने के लिए महत्वपूर्ण हैं कि सूर्य की अचानक अनुपस्थिति आयनमंडल को कैसे बाधित करती है, संभावित रूप से मानव संचार में हस्तक्षेप करती है। आपको बता दें कि पृथ्वी के वायुमंडल का वह भाग जो सतह से 55 से 310 मील (90 और 500 किलोमीटर) के बीच स्थित है, आयनमंडल के रूप में जाना जाता है।

प्रोजेक्ट मैनेजर ने क्या कहा? 
वैज्ञानिक आरोह बड़जात्या के अनुसार, यह क्षेत्र विद्युतीकृत है, जो उपग्रह संचार को प्रभावित करता है क्योंकि सिग्नल गुजरते हैं और रेडियो तरंगों को प्रतिबिंबित और अपवर्तित करते हैं। आयनमंडल को समझना और गड़बड़ी की भविष्यवाणी करने में मदद करने के लिए मॉडल बनाना हमारी दुनिया के लिए आवश्यक है जो तेजी से संचार पर निर्भर हो रही है।

फ्लोरिडा में एम्ब्री-रिडल एरोनॉटिकल यूनिवर्सिटी में इंजीनियरिंग भौतिकी के प्रोसेसर और स्पेस एंड एटमॉस्फेरिक इंस्ट्रुमेंटेशन लैब के निदेशक आरोह बड़जात्या इस परियोजना के प्रभारी हैं।