Tuesday , August 16 2022
Home / हेल्थ &फिटनेस / लड़कियों के शरीर में पल रहे रोगों का संकेत देता हैं पीरियड्स, इन बातों की ना करें अनदेखी

लड़कियों के शरीर में पल रहे रोगों का संकेत देता हैं पीरियड्स, इन बातों की ना करें अनदेखी

पीरियड्स समय पर ना आना, खून के थक्के बनना जैसे समस्याओं को महिलाएं अक्सर छोटा समझ इग्नोर कर देते हैं। मगर, आपकी यह एक गलती सेहत पर भारी पड़ सकती है। पीरियड साइकल में अचानक आए अजीब बदलाव जो पहले कभी ना हुए हो किसी गंभीर बीमारी का इशारा हो सकता है। ऐसे में इन्हें पहचानकर सही समय पर इलाज करवाना बहुत जरूरी है…

# पीरियड्स में बड़े खून में थक्‍के को अनदेखा ना करें क्‍योंकि ये किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकते हैं। दरअसल, पीरियड्स में ब्‍लड क्‍लॉट्स बनना एंटीकोआगुलंट्स का संकेत हो सकता है, जो शरीर से पहले थक्के को तोड़ते हैं। इसके अलावा खून के थक्के बनना हार्मोन असंतुलन, संक्रमण या गर्भपात का संकेत भी हो सकता है।

# आमतौर पर हर महिला को 3-7 दिनों तक पीरियड्स आते हैं लेकिन इससे लंबी अवधि के लिए ऐसा होना थायरॉयड गलैंड में गड़बड़ी, PCOS, हार्मोन असंतुलन की तरफ इशारा करता है। इसके अलावा थायराइड ड्रग्स, स्टेरॉयड और एंटीसाइकोटिक्स जैसे हार्मोनल दवाएं भी इसकी जिम्मेदार हो सकती हैं।

# महीने में हल्की-हल्की स्पॉटिंग होना हार्मोनल स्तर में उतार-चढ़ाव का संकेत हो सकता है। इसके अलावा फाइब्रॉएड, इंफेक्शन, बर्थ कंट्रोल पिल्स, गर्भाशय कैंसर या सर्वाइकल कैंसर का संकेत भी देता है। ऐसे में आपको डॉक्टर से चेकअप करवाना चाहिए।

# पीरियड्स की शुरुआत में खून का रंग हल्का लाल  और खत्म होने पर भूरा या काला दिखे तो सतर्क हो जाएं। ऐसा शरीर में ऑक्सीजन फ्लो में गड़बड़ी का संकेत है। इसके अलावा अगर खून के साथ व्हाइट डिस्चार्ज हो तो समझ जाएं कि आप गर्भवती हैं।

# PCOS और थायरॉयड ग्लैंड में गड़बड़ी के चलते पीरियड्स लंबे समय पर बंद हो सकते हैं। हालांकि ऐसा हार्मोन्स संतुलन बिगड़ना, अधिक तनाव, मोटापा, एस्ट्रोजन की कमी, ब्रेस्टफीडिंग और प्री-मेनोपॉज के कारण भी हो सकती है।

Check Also

बुखार में पीएं मौसमी का जूस, होगी इम्यूनिटी मजबूत

मौसम्बी के स्वास्थ्य लाभ: बदलते मौसम का असर सबसे पहले सेहत पर पड़ता है। जिससे वायरल ...