Monday , April 15 2024

रामनवमी के दिन करें ये उपाय, संकट दूर होगा और हनुमानजी की कृपा मिलेगी

9aqg90ucbrsi7swbtz8xuiv80zoudr0vz47vpgza

भगवान राम का जन्म चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को हुआ था। इस दिन रामनवमी मनाई जाती है. साल 2024 में रामनवमी का त्योहार 14 अप्रैल को आ रहा है। जीवन में संकट आपका पीछा नहीं छोड़ रहा है और आपको हर दिन नई समस्या का सामना करना पड़ रहा है, आप लगातार किसी न किसी मामले में फंस रहे हैं, व्यापार में शत्रु यानी प्रतिद्वंद्वी बढ़ रहा है तो रामनवमी के दिन कुछ खास करने से आपका संकट कम हो जाएगा। तो जानिए कुछ खास उपायों के बारे में.

उत्सव के साथ उत्सव जरूरी है

रामनवमी यानि रामचन्द्रजी का जन्मदिन यानि प्राकट्य दिवस। इस दिन को ऐसे मनाएं जैसे घर पर किसी का जन्मदिन हो। घर पर अपनी खुद की स्वीट डिश बनाएं और सभी लोगों के साथ शेयर करें।

हनुमानजी की विशेष पूजा करें

घर में हनुमानजी की आशीर्वाद मुद्रा में तस्वीर लगाएं और उसके सामने बैठकर राम चरित मानस में राम अवतार की चौपाइयां पढ़ें। ऐसा करने से हनुमानजी प्रसन्न होंगे। इसके अलावा ताली बजाकर श्री राम जय राम जय जय राम मंत्र का जाप करें साथ ही भजन कीर्तन करें हनुमानजी सभी संकटों को दूर कर देंगे और यही काम परिवार के साथ मिलकर उत्सव के रूप में मनाया जाए तो जीवन के सभी कष्ट दूर हो जाएंगे निकाला गया।

श्रीराम के विशाल रूप के बारे में कौशल्या ने क्या कहा?

रामनवमी का दिन बहुत पवित्र होता है. इस दिन भगवान राम की पूजा करने से विशेष फल मिलता है। चैत्र शुक्ल नवमी तिथि को भगवान श्री राम का जन्म अयोध्या के महाराज दशरथ और माता कौशल्या के घर पुत्र के रूप में हुआ था। जब भगवान ने माता कौशल्या को विराट रूप में दर्शन दिये तो माता ने हाथ जोड़कर विनती की और बालक जैसा बनने की जिद करने लगी।

यदि आप शत्रु से डरते हैं तो यह ढाल धारण करें

लाल कपड़े का आसन बनाकर श्री राम दरबार की छवि रखें। उन्हें फूलों की मालाओं से सजाएं, घी का दीपक जलाएं और भजन कीर्तन करें। राम दरबार सजाने के बाद राम रक्षा स्तोत्र का पाठ करें। यदि रामधुन का संगीत मधुर स्वर में बजाया जाए तो वातावरण भी खुशनुमा हो जाएगा। शत्रु से भय होने पर घर से निकलते ही रामरक्षा स्तोत्र का पाठ करने से सुरक्षा मिलती है। हनुमान जी रक्षा करते हैं. रामनवमी से इसका प्रतिदिन पाठ प्रारंभ करना चाहिए।