Sunday , April 21 2024

यह रस गांठों में जमा होकर दर्द पैदा करने वाले यूरिक एसिड को घोल देता

Juice For Uric Acid : गलत खान-पान और खराब जीवनशैली के कारण आजकल लोगों में यूरिक एसिड की समस्या तेजी से बढ़ रही है। यूरिक एसिड एक विषैला पदार्थ है जो हमारे शरीर में बनता है। यह प्यूरीन नामक रसायन के टूटने से बनता है। आम तौर पर, यह गुर्दे द्वारा फ़िल्टर किया जाता है और मूत्र के माध्यम से उत्सर्जित होता है। हालाँकि, जब किडनी ठीक से काम नहीं करती है, तो यह क्रिस्टल के रूप में जोड़ों में जमा होने लगता है। इससे जोड़ों में दर्द और सूजन जैसी कई तरह की समस्याएं सामने आने लगती हैं। शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित करने के लिए खान-पान का विशेष ध्यान रखना पड़ता है। कुछ घरेलू उपायों से यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। 

यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में करेले का जूस फायदेमंद:  शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित करने में
करेले के जूस का सेवन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। करेला कई औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसमें विटामिन सी, आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम और बीटा-कैरोटीन जैसे कई पोषक तत्व होते हैं। यह रक्त को शुद्ध करके यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करने में मदद मिलती है।

इस जूस का सेवन कब और कैसे करें? : 
शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित करने के लिए रोज सुबह एक कप करेले के जूस का सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा करेले का पल्या और गोज्जू बनाकर भी खाया जा सकता है, यह कई बीमारियों को दूर करने में मदद करता है.

करेले का जूस पीने के अन्य फायदे:
1. सुबह खाली पेट करेले का जूस पीने से डायबिटीज कंट्रोल में रहती है.
2. करेले के जूस का सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है ।
3. करेले का जूस पीने से लीवर से अशुद्धियां दूर होती हैं और लीवर की कार्यप्रणाली में सुधार होता है।
4. रोज सुबह खाली पेट एक गिलास करेले का जूस पीने से आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है।
5. करेले का जूस पीने से हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है.

हाई यूरिक एसिड की समस्या में करेले का जूस बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन अगर आपकी समस्या बनी रहती है तो डॉक्टर से सलाह लेने की सलाह दी जाती है।