Tuesday , April 16 2024

मोदी का सपना भारत को 2047 तक विकसित राष्ट्र बनाना: संजीव चौरसिया

कानपुर,01 अप्रैल (हि.स.)। अर्थव्यवस्था के मामले में आज हम विश्व में पांचवे स्थान पर हैं । आने वाले समय में हम तीसरे स्थान पर होंगे। मोदी का सपना है भारत को 2047 तक विकसित राष्ट्र बनाना, यह सपना भी भारत के नागरिकों का पूरा होगा। यह बात सोमवार को कानपुर के अकबरपुर चुनाव संचालन समिति की बैठक में पहुंचे भाजपा के उप्र लोकसभा चुनाव प्रभारी संजीव चौरसिया ने कही।

उन्होंने कहा कि भाजपा ही देश में एकमात्र ऐसी पार्टी है जो कहती है वह करती है, भाजपा ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाने की बात कही और हटाया। रामलाल प्राण प्रतिष्ठा इस बात का गवाह है कि हमने जो वादा जनता से किया उसको पूरा किया । भाजपा का उद्देश्य था समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति की हर प्रकार की सुरक्षा स्वास्थ्य के लिए आयुष्मान कार्ड भोजन के लिए मुफ्त राशन निवास के लिए मकान देकर भाजपा ने अपना वादा पूरा किया।

भाजपा बूथ मजबूत करने की बात इस वजह से करती है कि जिस पेड़ की जड़ें मजबूत होती हैं वह वृक्ष कभी नहीं सूखता यही कारण है कि हम दो सीटों से पिछली बार 300 पार किया था। अबकी बार 400 पर करने वाले हैं अर्थव्यवस्था के मामले में आज हम विश्व में पांचवें स्थान पर हैं आने वाले समय में हम तीसरे स्थान पर होंगे मोदी का सपना है भारत को 2047 तक विकसित राष्ट्र बनाना यह सपना भी भारत के नागरिकों का पूरा होगा।

अपने संबोधन में उन्होंने 6 अप्रैल को भाजपा स्थापना दिवस व 14 अप्रैल को भीमराव अंबेडकर जयंती दिवस समरसता दिवस के रूप में प्रत्येक बूथ पर बृहद रूप में मनाने की बात कही।

बैठक में भारतीय जनता पार्टी कानपुर बुंदेलखंड के क्षेत्रीय अध्यक्ष प्रकाश पाल ने जीत के कुछ मंत्र बताते हुए कहा कार्यकर्ताओं की कुछ दिनों की मेहनत पूरे पांच साल सम्मान दिलाएगा।

इससे पूर्व आवास विकास एक कल्याणपुर गेस्ट हाउस में भाजपा अकबरपुर लोकसभा चुनाव संचालन समिति की बैठक दीप प्रज्वलन के साथ प्रारंभ हुई।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से संयोजक दिनेश राय प्रभारी राजेश तिवारी प्रदेश उपाध्यक्ष कमलावती सिंह मंत्री प्रतिभा शुक्ला विधायक नीलिमा कटियार सरोज कुरील स्वप्निल वरुण जिला अध्यक्ष दीपू पांडे मनोज शुक्ला शिवराम सिंह दिनेश कुशवाहा अशोक राजपूत निर्मल तिवारी अशोक सिंह विकास मिश्रा अकबरपुर लोक सभा मीडिया प्रभारी आदि रहे।