Sunday , August 14 2022
Home / उत्तर प्रदेश / मेडिकल कॉलेज में दो और आरटीपीसीआर मशीन होंगी स्थापित, जल्द मिलेंगे परिणाम

मेडिकल कॉलेज में दो और आरटीपीसीआर मशीन होंगी स्थापित, जल्द मिलेंगे परिणाम

झांसी : कोविड मरीजों को जांच के परिणाम जल्द मिल सकेंगे। इसके लिए मेडिकल कॉलेज में 2 और आरटीपीसीआर मशीनें स्थापित होंगी। जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में जनपद में बढ़ते कोविड -19 के मरीजो को समय से और प्रॉपर इलाज मुहैया कराए जाने के संबंध में अधिकारियों व चिकित्सकों के साथ बैठक करते हुए सख्त लहजे में निर्देश दिए कि मरीजों को सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया जाए। सभी हॉस्पिटल में ऑक्सीजन गैस की उपलब्धता है।

जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने बताया कि जनपद में प्रतिदिन 40 से 50 कोरोना मरीज जिन्हें वेंटीलेटर की अति आवश्यकता है, हॉस्पिटल में भर्ती हो रहे हैं। वेंटिलेटर की कमी के कारण प्रोपर इलाज नहीं हो पा रहा है। यह निर्णय किया गया है जिला प्रशासन 20 वेंटिलेटर तथा नगर निगम झांसी 10 वेंटिलेटर क्रय करेगा।

 उन्होंने अपील करते हुए कहा कि 10 वैन्टीलेटर के लिए दानदाता आगे आएं और उक्त वेंटीलेटर क्रय कर प्रशासन का सहयोग करें। नगर के सामाजिक संगठन, स्वैच्छिक संस्थाएं, विभिन्न संगठन इस नेक कार्य में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि यदि उक्त वैन्टीलेटर उपलब्ध हो जाएंगे तो गंभीर बीमार मरीजों की जान बचाने में आसानी होगी।

जिलाधिकारी ने बताया कि लगभग 100 लोग प्लाज्मा डोनेट करने के लिए तैयार हैं। अन्य लोग जो प्लाज्मा डोनेट करना चाहते हैं तो प्लाज्मा डोनेट हेल्पलाइन नंबर 0510-22440399 पर संपर्क कर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि नेक कार्य है ऐसा करने से अन्य संक्रमित मरीजों को जल्द स्वस्थ करने में सहयोग प्राप्त होगा।

जिलाधिकारी ने बीएचईएल, पैरामेडिकल कॉलेज, सीएचसी बड़ागांव, सीएचसी बरुआसागर, शेल्टर होम नगर निगम, कैंट हॉस्पिटल में पर्याप्त बेड होने के बाद भी मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है। उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि संक्रमित मरीजों को भर्ती किया जाना सुनिश्चित हो सभी एल-2 श्रेणी के हॉस्पिटल में ऑक्सीजन गैस की आपूर्ति को और बेहतर बनाए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे हॉस्पिटल जहां ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी है वहाँ आक्सीजन गैस सिलेंडर (जैंबो) की उपलब्धता बढ़ाई जाए ताकि भर्ती हुए मरीजों का प्रभावी ढंग से उपचार हो सके।

उन्होंने ने बताया कि आरटीपीसीआर के परिणाम जल्द प्राप्त होंगे क्योंकि महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में आरटीपीसीआर मशीन की संख्या बढ़ाई जा रही है, उक्त मशीन जल्द ही स्थापित होगी। मशीन के स्थापित होने से कोविड-19 की जांच के परिणाम जल्द प्राप्त होंगे, परिणाम लंबित नहीं रहेंगे।

 बैठक में मेडिकल कालेज कोविड हेल्प डेस्क के निष्क्रिय होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि जल्द ही पूरी क्षमता के साथ हेल्प डेस्क संचालित हो ताकि लोगों को समस्या ना हो और उन्हें सही जानकारी प्राप्त हो सके।

इस मौके पर सीडीओ शैलेष कुमार, नगर आयुक्त अवनीश कुमार राय, एडीएम संजय पांडे, प्रधानाचार्य मेडिकल कॉलेज एनएस सेंगर, सीओ कैंट डॉ विनोद विग्नेश्वरन, नगर मजिस्ट्रेट सलिल पटेल, सीओ सिटी आर के सिंह, डा सुधीर कुलश्रेष्ठ,  डा एन के जैन सहित अन्य अधिकारी व चिकित्सक उपस्थित रहे।

Check Also

प्रतापगढ़ में स्वतंत्रता सप्ताह एवं हर घर तिरंगा अभियान बड़े ही धूमधाम से मनाया

प्रतापगढ़, 13 अगस्त (हि.स.)। भारतीय स्वाधीनता के 75 वर्ष पूर्ण होने पर 13 से 15 ...