Sunday , August 14 2022
Home / बिहार / पिछले दरवाजे से गेहूं खरीद रहे पैक्स:किसानों से गेहूं लेने में कर रहे आनाकानी, अनाज बारिश में भींगे तो पानी में बह जाएगी मेहनत

पिछले दरवाजे से गेहूं खरीद रहे पैक्स:किसानों से गेहूं लेने में कर रहे आनाकानी, अनाज बारिश में भींगे तो पानी में बह जाएगी मेहनत

किसानों से गेहूं खरीदने में आनाकानी कर रहे पैक्स। - Dainik Bhaskar

किसानों से गेहूं खरीदने में आनाकानी कर रहे पैक्स।

गेहूं खरीद में पैक्स की आनाकानी के बीच अगर बारिश हो गई तो किसानों की पूरी मेहनत पानी में बह जाएगी। सरकार की तरफ जारी तारीख के 7 दिन बीत जाने के बावजूद किसानों से पैक्स अनाज नहीं ले रहे हैं। हालात से परेशान किसानों ने अब इसे लेकर सहकारिता पदाधिकारियों को पत्र लिखना शुरू कर दिया है। किसानों का आरोप है कि पैक्सों में पिछले दरवाजे से खरीद की जा रही है।

किसानों ने सहकारिता पदाधिकारी को लिखा पत्र

खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग की तरफ से 9 अप्रैल को ही सभी जिलाधिकारियों को एक पत्र जारी किया गया था। इस पत्र में जिलों को 20 अप्रैल से गेहूं की खरीद करने का निर्देश जारी किया गया था। निर्देश की जानकारी मिलने के बाद किसान पैक्सों को अपना गेहूं देने के लिए पहुंचने लगे। 7 दिन बीत जाने के बावजूद किसानों से गेहूं नहीं ली जा रही है। किसान अधिकार मंच ने पूरे बिहार में गेहूं खरीद में गडबड़ी के आरोप लगाए हैं। मंच की तरफ से बक्सर जिला सहकारिता पदाधिकारी को भी एक पत्र भी दिया गया है। पत्र में किसानों ने खलिहानों में पड़े अनाज को लेकर चिंता जाहिर की है। किसानों का आरोप है कि पैक्स चोरी-छुपे बिचौलियों से गेहूं खरीद रहे हैं और किसानों के सामने बहाने बना रहे हैं।

सहकारिता विभाग का टॉल फ्री नंबर भी बेअसर

किसानों ने सहकारिता विभाग के हेल्पलाइन नंबर और टॉल फ्री नंबर के जरिए परेशानी सीधे सहकारिता विभाग तक भी पहुंचाने की कोशिश की, लेकिन इसका भी कोई फायदा नहीं मिला। किसानों की मानें तो नंबर पहले तो लगता नहीं है। दर्जनों बार लगाने के बाद लग भी जाए तो इसपर रजिस्टर शिकायत का कोई जवाब नही मिलता। फोन उठाने वाले कॉल अटेंडर अपनी पहचान भी नहीं बताते जिससे कि बाद में उस रजिस्टर्ड शिकायत पर हुई कार्रवाई की जानकारी मांगी जा सके। भास्कर ने भी टॉल फ्री नंबर 18003456290 पर और हेल्पलाइन नंबर 06122200693 पर कॉल किया तो कई बार कॉल लगाने के बावजूद इसपर बात नहीं हो सकी।

व्यापार मंडल सवालों पर कर रहे टालमटोल

सीवान के दरौंदा प्रखंड के किसानों की मानें तो यहां गेहूं की खरीद अब तक शुरू भी नहीं हो पाई है। यहां प्रखंड में कुल 17 पैक्स हैं, जिनमें से 4 में PDS हैं, बाकी 13 को गेहूं खरीदना है, लेकिन यहां ना तो पैक्स और ना ही व्यापार मंडल गेहूं खरीद कर रहे हैं। यहां के व्यापार मंडल के अध्यक्ष जब्बार हुसैन से जब भास्कर ने सवाल किया तो जवाब मिला- कोरोना का वक्त है, जान बचाएं या गेहूं खरीदें। सहकारिता पदाधिकारी भी कोरोना के कारण खरीद में परेशानी की बात कह रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

Check Also

लालची राजनीति के खिलाफ पूर्व उपमुख्यमंत्री ने बिहार की महागठबंधन सरकार पर साधा निशाना

बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन सरकार के खिलाफ बीजेपी आक्रामक हो गई ...