Sunday , June 23 2024

धार्मिक भावनाएं आहत करने की आरोपी करीना कपूर खान को हाईकोर्ट ने भेजा नोटिस

करीना नोटिस प्रेग्नेंसी बुक: करीना कपूर खान उन एक्टर्स में से एक हैं जिन्होंने अपनी प्रेग्नेंसी को कभी छुपाकर नहीं रखा और खुलकर अपना अनुभव लोगों के साथ शेयर किया। करीना ने अपने अनुभव को एक किताब में भी दर्ज किया है। साल 2021 में करीना ने अपनी प्रेग्नेंसी बुक ‘करीना कपूर खान बाइबिल: द अल्टीमेट मैनुअल फॉर मॉम्स-टू-बी’ लॉन्च की थी।

 

करीना ने प्रेगनेंसी बुक नोटिस की

करीना ने प्रेगनेंसी बुक नोटिस की

इस किताब में बेबो ने तैमूर और जेह की प्रेग्नेंसी एक्सपीरियंस के बारे में बताया है। हालांकि, तीन साल बाद करीना इस किताब की वजह से कानूनी पचड़े में फंस गई हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, करीना कपूर को उनकी प्रेग्नेंसी बुक के लिए कानूनी नोटिस मिला है । मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति गुरपाल सिंह अहलूवालिया की एकल न्यायाधीश पीठ ने करीना और पुस्तक विक्रेताओं के खिलाफ मामला दर्ज करने की वकील क्रिस्टोफर एंथोनी की याचिका पर नोटिस जारी किया है। एक्ट्रेस को नोटिस भेजने की मुख्य वजह ये है कि कोर्ट ने एक्ट्रेस से किताब में ‘बाइबिल’ शब्द का इस्तेमाल करने की वजह के बारे में जवाब मांगा है. याचिकाकर्ता द्वारा किताब की बिक्री पर रोक लगाने की मांग के बाद अदालत ने प्रकाशकों को नोटिस भी जारी किया है।

मध्य प्रदेश के जबलपुर के सामाजिक कार्यकर्ता क्रिस्टोफर एंथोनी का कहना है कि किताब के शीर्षक में ‘बाइबिल’ शब्द के इस्तेमाल से ईसाई समुदाय की भावनाएं आहत हो रही हैं. याचिका दायर करने वाले व्यक्ति ने कहा, “बाइबिल दुनिया भर में ईसाई धर्म की पवित्र पुस्तक है और करीना कपूर खान की गर्भावस्था की तुलना बाइबिल से करना गलत है।” करीना को पहले भी ‘बाइबिल’ शब्द के इस्तेमाल पर आपत्ति हुई थी। याचिकाकर्ता ने पहले करीना के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए पुलिस से संपर्क किया था, लेकिन पुलिस ने इनकार कर दिया। इसके बाद शख्स ने निचली अदालत में याचिका दायर की, लेकिन इसे खारिज कर दिया गया. अब हाई कोर्ट ने करीना से जवाब मांगा है.