Monday , April 15 2024

तीन जिलों में 3070 वर्ग किमी. तक फैली हैं अमेठी लोकसभा की जड़ें

30dl M 23 30032024 1

अमेठी, 30 मार्च (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा सीट एक ऐसी सीट है जिसकी जड़ें आसपास के तीन जिलों तक फैली हुई हैं। अमेठी, रायबरेली और सुलतानपुर, इन्हीं तीन जिलों से मिलकर अमेठी लोकसभा सीट बनी है। जिसमें अमेठी जिले की गौरीगंज, जगदीशपुर, अमेठी और तिलोई कुल चार विधानसभा और रायबरेली जिले की सलोन विधानसभा भी अमेठी लोकसभा क्षेत्र का ही हिस्सा है। इस प्रकार कुल पांच विधानसभाएं अमेठी लोकसभा क्षेत्र में आती हैं। हाई प्रोफाइल अमेठी संसदीय क्षेत्र का दायरा 3070 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। जिसके लिए चुनाव में पुलिस प्रशासन को कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है।

देश में उत्तर प्रदेश की सबसे हॉट सीट कही जाने वाली लोकसभा क्षेत्र अमेठी की भौगोलिक स्थिति इस प्रकार है। जिसमें संपूर्ण अमेठी जनपद के साथ-साथ पड़ोसी जनपद रायबरेली की सलोन विधानसभा भी अमेठी लोकसभा का हिस्सा है। यही नहीं पड़ोसी जनपद सुलतानपुर की बल्दीराय तहसील के 29 राजस्व गांव जगदीशपुर विधानसभा क्षेत्र में आते हैं। जिसके कारण बूथों की संख्या के साथ ही साथ मतदाताओं की वास्तविक स्थिति आसानी से स्पष्ट नहीं हो पाती है।

तीनों जिलों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार अमेठी लोकसभा क्षेत्र में मतदाताओं की कुल संख्या 1786115 है। यही नहीं चुनाव के समय मतदान से लेकर मतगणना तक तीनों जनपदों से डाटा कलेक्शन करना पड़ता है। क्योंकि रायबरेली जिले की सलोन विधानसभा में कुल 357799 और सुल्तानपुर जनपद के हलियापुर क्षेत्र के 56000 मतदाता अमेठी लोकसभा में ही शामिल हैं। मतदान के लिए 1492 बूथ अमेठी जिले में, 62 बूथ सुलतानपुर और 369 बूथ रायबरेली जनपद में बनेंगे। रायबरेली और अमेठी जिले से रवाना हुई पोलिंग पार्टियां वापस अपने जिलों में जाएगी। वहीं पर सुलतानपुर जनपद से अमेठी लोकसभा क्षेत्र में मतदान कराने आई 62 पोलिंग पार्टियों को अपनी वोटिंग मशीन जमा करने के लिए अमेठी जनपद मुख्यालय गौरीगंज पहुंचना होगा। ऐसे में यदि हम मतगणना की बात करते हैं तो अमेठी लोकसभा सीट के मतों की गिनती भी अमेठी और रायबरेली दोनों जनपदों में होगी।