Sunday , April 21 2024

तकिए के नीचे नागरवेल का पत्ता रखने से क्या होता

 

तकिए के नीचे पान का पत्ता: नागरवेल के पत्ते का हिंदू धर्म में महत्वपूर्ण स्थान है। नागरवेल के पत्तों का उपयोग पूजा-पाठ से लेकर शुभ कार्यों में किया जाता है। नागरवेल के पत्तों को बहुत शुभ माना जाता है। न सिर्फ धार्मिक दृष्टि से बल्कि ज्योतिष शास्त्र में भी सुपारी से जुड़े कई उपाय बताए गए हैं जो बेहद कारगर साबित हो सकते हैं। इसी क्रम में ज्योतिषी राधाकांत वत्स ने हमें बताया कि ज्योतिष शास्त्र में तकिये के नीचे सुपारी रखने को भी कहा गया है. इसके पीछे क्या महत्व है और इसके क्या फायदे हैं आइए जानते हैं इसके बारे में।

तकिए के नीचे क्यों रखना चाहिए नागरवेल के पत्ते?
ज्योतिष शास्त्र में नागरवेल के पत्ते का संबंध बुध ग्रह से माना जाता है। बुध को बुद्धि, विवेक, व्यक्तित्व आदि का कारक माना जाता है। इसके अलावा जिस प्रकार सभी ग्रहों का संबंध शरीर के किसी न किसी अंग से होता है, उसी प्रकार बुध का संबंध दांत, गर्दन, कंधे और त्वचा से होता है।

ऐसे में तकिए के नीचे नागरवेल का पत्ता रखने से कुंडली में बुध की स्थिति मजबूत होगी। जीवन में बुध के अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे। बुध की शुभ स्थिति के कारण जातक की बुद्धि तीव्र होगी और उसे अपनी कुशल बुद्धि के कारण करियर आदि में सफलता मिलने लगेगी।

इसके अलावा तकिये के नीचे नागरवेल का पत्ता रखने से भी नकारात्मक विचारों से बचा जा सकता है। किसी भी प्रकार का तनाव आपको परेशान नहीं करेगा। आपको मानसिक शांति मिलेगी और मन में सकारात्मकता का जन्म होगा। इसके अलावा बुध ग्रह की युति से बनने वाले ग्रहों का शुभ प्रभाव भी देखने को मिलेगा।

नागरवेल के पत्तों को तकिये के नीचे रखने से पहले गंगाजल में भिगो लें। फिर इसे लाल कपड़े में लपेटकर तकिए के नीचे रख दें। यदि पात्र में गंगा जल उपलब्ध न हो तो आप तुलसी जल का भी उपयोग कर सकते हैं। ये भी शुभ रहेगा.