Saturday , August 13 2022
Home / विदेश / जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या से लेकर चॉविन को दोषी ठहराए जाने तक, जानें करीब एक साल में क्या-क्या हुआ

जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या से लेकर चॉविन को दोषी ठहराए जाने तक, जानें करीब एक साल में क्या-क्या हुआ

अमेरिका की एक अदालत ने मिनियापोलिस के पूर्व अधिकारी डेरेक चॉविन (Derek Chauvin) को अश्वेत अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की हत्या के मामले में दोषी पाया है. 46 वर्षीय फ्लॉयड की मौत पिछले साल मई में गिरफ्तारी के दौरान हुई थी, जब पुलिस बल ने उनके साथ क्रूरता से व्यवहार किया था. मिनियापोलिस (Minneapolis) में एक स्टोर के कर्मचारी ने फ्लॉयड पर जाली नोट देने का आरोप लगाया था.

इसके बाद मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मी डेरेक चॉविन ने फ्लॉयड की गर्दन पर अपने घुटने से नौ मिनट से ज्यादा वक्त तक दबाव बनाकर उसे जमीन पर गिराये रखा था. इस दौरान वह बार-बार कहता रहा कि उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही है. आखिरकार फ्लॉयड ने दम तोड़ दिया. इस घटना का वीडियो तेजी से वायरल हो गया था और अमेरिका समेत दुनियाभर में हिंसक प्रदर्शन हुए थे. ऐसे में आइए जॉर्ज फ्लॉयड की मौत से लेकर डेरेक चॉविन के दोषी ठहराए जाने तक की पूरी टाइमलाइन को जाना जाए.

25 मई: मिनियापोलिस के एक दुकानदार ने फ्लॉयड पर 20 डॉलर का जाली नोट देने का आरोप लगाते हुए पुलिस को फोन किया. डेरेक चॉविन पुलिस के साथ पहुंचा और उसने फ्लॉयड को हथकड़ी लगाकर जमीन पर गिरा दिया. चॉविन ने इसके बाद फ्लॉयड की गर्दन पर 9 मिनट 26 सेकेंड तक अपने घुटनों को रखा. इस दौरान फ्लॉयड बार-बार कहते रहे कि वह सांस नहीं ले पार रहे हैं. ये देखकर कुछ लोगों ने चॉविन का विरोध किया. फिर फ्लॉयड को अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

26 मई: पुलिस ने एक बयान जारी कर कहा कि फ्लॉयड की मौत ‘मेडिकल दिक्कत’ की वजह से हुई. इसके कुछ मिनट बाद ही पुलिस की क्रूरता का वीडियो पोस्ट कर दिया गया. फिर पुलिस ने बयान जारी कर कहा कि FBI इस मामले की जांच करेगी और चॉविन समेत तीन अन्य पुलिसकर्मियों को नौकरी से निकाल दिया गया है. इसके बाद देशभर में रंगभेद के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गए.

27 मई: मेयर जैकब फ्रे ने चॉविन के खिलाफ आपराधिक आरोपों की मांग की. सबसे पहले विरोध प्रदर्शन मिनियापोलिस में शुरू हुए. यहां लूटपाट शुरू हो गई और आगजनी की घटना सामने आई. देखते ही देखते ये प्रदर्शन देश के अन्य शहरों में फैल गए.

28 मई: गवर्नर टिल वाल्ज ने हालात को काबू में करने के लिए मिनेसोटा नेशनल गार्ड को काम पर लगा दिया. वहीं, पुलिस ने प्रीसिंक्ट स्टेशन को छोड़ दिया और गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने इसे आग के हवाले कर दिया.

29 मई: चॉविन को गिरफ्तार किया गया और उस पर हत्या का आरोप लगाया गया. इस दौरान तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर मिनियापोलिस में प्रदर्शन कर रहे लोगों को ठग बताया. उन्होंने चेतावनी दी कि अगर लूटमार शुरू होगी तो गोलीबारी भी शुरू हो जाएगी.

30 मई: डोनाल्ड ट्रंप ने अपने ट्वीट वाले बयान से पलटी मार ली. लेकिन तब तक मिनियापोलिस और देशभर में हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गए थे.

31 मई: गवर्नर वाल्ज ने कहा कि फ्लॉयड की हत्या के मामले में अटॉर्नी जनरल कीथ एलिसन कार्रवाई का नेतृत्व करेंगे.

1 जून: काउंटी मेडिकल इग्जामिनर ने बताया कि पुलिस की कार्रवाई और गर्दन को घुटने से दबाने की वजह से फ्लॉयड का दिल रुक गया होगा. इस कारण फ्लॉयड की मौत हुई होगी.

2 जून: मिनेसोटा के मानवाधिकार विभाग ने मिनियापोलिस पुलिस डिपार्टमेंट के खिलाफ नागरिक अधिकारों की जांच शुरू की.

3 जून: एलिसन चॉविन के खिलाफ सेकेंड डिग्री का हत्या का आरोप लगाता और फ्लॉयड की गिरफ्तारी में शामिल रहे अन्य तीन अधिकारियों पर भी आरोप लगाए गए.

4 जून: मिनियापोलिस में फ्लॉयड का अंतिम संस्कार कार्यक्रम आयोजन किया गया.

5 जून: मिनियापोलिस ने पुलिस द्वारा पीछे से पकड़कर गर्दन दबाने के नियम पर प्रतिबंध लगा दिए. आने वाले महीनों में ऐसे ही कई प्रतिबंध लागू किए गए.

6 जून: देशभर में शांतिपूर्ण प्रदर्शन हुए और पुलिस सुधार की मांग की गई.

7 जून: मिनियापोलिस सिटी काउंसिल के अधिकांश सदस्यों ने कहा कि वे पुलिस विभाग को खत्म करने का समर्थन करते हैं. यह विचार बाद में रोक दिया गया लेकिन पुलिस सुधार पर एक राष्ट्रीय बहस छिड़ गई.

8 जून: ह्यूस्टन में हजारों लोगों ने फ्लॉयड को श्रद्धांजलि दी. वह यहीं पर पले-बढ़े थे. उन्हें अगले दिन दफना दिया गया.

10 जून: फ्लॉयड का भाई पुलिस जवाबदेही के लिए हाउस ज्यूडिशियरी कमेटी के सामने गवाही देता है.

16 जून: डोनाल्ड ट्रंप ने बेहतर पुलिस कार्यप्रणाली को प्रोत्साहित करने और अत्यधिक बल प्रयोग की शिकायतों वाले अधिकारियों को ट्रैक करने के लिए एक डेटाबेस स्थापित करने वाले एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किया.

15 जुलाई: फ्लॉयड के परिवार ने मिनियापोलिस और चार पूर्व पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दायर किया.

7 अक्टूबर: चॉविन एक मिलियन डॉलर का बॉन्ड भरते हुए जेल से रिहा हो गया. इसके बाद जबरदस्त प्रदर्शन हुए.

5 नवंबर: जज पीटर काहिल ने आरोपी पुलिस अधिकारियों के ट्रायल को स्थानांतरित करने के अनुरोध को खारिज कर दिया.

12 जनवरी: अदालत की क्षमता की वजह से काहिल ने कहा कि चॉविन के खिलाफ अभी अकेले मुकदमा चलाया जाएगा. अन्य अधिकारियों पर अगस्त में मुकदमा चलेगा.

12 फरवरी: मिनियापोलिस के नेताओं ने कहा कि जॉर्ज फ्लॉयड स्क्वायर को तभी खोला जाएगा, जब चॉविन पर मुकदमा चलेगा.

12 मार्च: मिनियापोलिस प्रशासन फ्लॉयड के परिवार को 27 मिलियन डॉलर का समझौता करने को राजी होता है.

23 मार्च: 12 जूरी सदस्यों और तीन अन्य लोगों के साथ जूरी का चुनाव पूरा होता है.

29 मार्च: हत्या के मामले में अदालत की कार्रवाई शुरू होती है.

15 अप्रैल: सभी गवाहों अदालत में अपना बयान दे देते हैं.

19 अप्रैल: आखिरी बार निर्णय लिया जाता है

20 अप्रैल: चॉविन को फ्लॉयड की हत्या का दोषी माना जाता है.

Check Also

बांग्लादेशी जिहादी संगठन के दो सदस्य हिरासत में, स्लिपर सेल के रूप में करते थे काम

मोरीगांव (असम), 13 अगस्त (हि.स.)। बांग्लादेशी जिहादी संगठन अंसारुल बांग्ला टीम (एबीटी) के स्लिपर सेल ...