Tuesday , August 16 2022
Home / धर्म / आचार्य के अनुसार अगर बिजनेस में पाना चाहते हैं सफलता तो याद रखें ये 3 बातें

आचार्य के अनुसार अगर बिजनेस में पाना चाहते हैं सफलता तो याद रखें ये 3 बातें

44bc8003359c0061ad3588539ae037d2

चाणक्य अर्थशास्त्र और राजनीति के इतने अच्छे जानकार थे कि इन्हें राजा चन्द्रगुप्त ने अपना आर्थिक सलाहकार बनाया था। आधुनिक काल में भी बिजनेस मैनेजमेंट के अधिकांश सिद्धांत चाणक्य की अर्थनीति से मिलते-जुलते हैं। चाणक्य ने अपनी अर्थनीति के द्वारा चंद्रगुप्त मौर्य की शासन व्यवस्था में योगदान किया था। आज भी बहुत सारे बिजनेसमैन चाणक्य की अर्थनीति का पालन कर रहे हैं। कुछ दिनों पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्तीय बजट पेश करते वक्त आचार्य चाणक्य की अर्थनीति को कोट किया था। आइए जानते हैं बिजनेस को सफल बनाने के लिए आचार्य चाणक्य की नीति क्या कहती है?

 

1. बिजनेस में लेने चाहिए कड़े फैसले

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि रिस्क हरेक बिजनेस का एक अहम पहलू है। यदि कोई बिजनेसमैन रिस्क लेने से डरेगा तो वह बिजनेस में आशातीत सफलता नहीं प्राप्त कर सकता है। चाणक्य नीति के मुताबिक बिजनेस को सफल बनाने के लिए कड़े फैसले अवश्य लेने चाहिए। अगर कोई मनुष्य बिजनेस में कड़े फैसले लेने से डरता है तो वह इसमें सफल नहीं हो सकता।

2. कस्टमर के साथ अच्छा व्यवहार

चाणक्य ने अपनी अर्थनीति में समझाया है कि एक बिजनेसमैन को अपना व्यवहार कुशल रखना चाहिए। साथ ही उसे अपनी वाणी पर भी नियंत्रण रखना चाहिए। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जिसकी वाणी में कर्कशता और तीखापन होता है, उसका व्यापार घाटा में जा सकता है। चाणक्य के मुताबिक ग्राहक के प्रति व्यवहार यदि अच्छा है तो दुबारा भी ग्राहक उसके पास लौटकर आएगा।

3. लाभ और हानि का परस्पर समन्वय

चाणक्य कहते हैं कि एक सफल व्यवसायी बनने के लिए लाभ और हानि का तालमेल बनाकर चलना चाहिए। मतलब आय से अधिक खर्च करना व्यवसाय में घाटा पहुंचा सकता है। वैसे व्यापारी जो व्यापार में आय से अधिक खर्च करते हैं उन्हें कर्ज का सामना करना पड़ता है। ऐसे में चाणक्य सलाह देते हैं कि एक सफल व्यवसायी बनने के लिए लाभ और हानि का परस्पर समन्वय बनाकर चलना चाहिए।

Check Also

नाग पंचमी 2022 पर न करें 7 काम, बढ़ेंगी मुश्किलें

श्रावण मास में त्योहारों का मौसम आता है और एक के बाद एक त्योहारों की ...