Thursday , July 25 2024

अस्पताल में पदस्थापित एएनएम गई अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

अररिया, 06 जुलाई (हि.स.)। फेस एप पर उपस्थिति दर्ज कराने के विरोध में सदर अस्पताल सहित जिले के विभिन्न पीएचसी और एपीएचसी में पदस्थापित एएनएम शनिवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चली गई है।

इससे पहले पीएचसी और एपीएचसी में पदस्थापित एएनएम कर्मियों ने फेस ऐप के खिलाफ प्रदर्शन की।अररिया सदर अस्पताल,फारबिसगंज अनुमंडलीय अस्पताल समेत क्षेत्र के अलग अलग जगहों के एपीएससी में पदस्थापित एएनएम कर्मियों ने प्रदर्शन कर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के खिलाफ जमकर नारेबजी की।

इस मौके पर एएनएम कंचन कुमारी, सुनीता कुमारी, आभा कुमारी, कृतिका कुमारी, गुंजन कुमारी,पल्लवी सिंह रूबी रानी, श्वेता कुमारी, सोनम कुमारी, कल्पना कुमारी, सुनीता कुमारी सोनाली कुमारी,कुमारी गायत्री सहित अन्य ने कहा कि हमलोग सुदूर देहात क्षेत्रों में काम करते हैं। ऐसे में फेस ऐप पर उपस्थित दर्ज करवाने में नेटवर्क आदि समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

हमलोगों को फेस ऐप पर तीन बार अपनी उपस्थिति दर्ज करानी होगी। एक बार दस बजे, दूसरी बार डेढ़ बजे और तीसरी बार शाम के पांच बजे। जहां सुदूर ग्रामीण इलाको में नेटवर्क की समस्या रहती है। यदि ऐप पर उपस्थिति नहीं हुई तो हमलोग काम करते हुए भी अनुपस्थित माना जायेगा। एएनएम कर्मियों ने कहा कि अभी गर्मी बरसात का मौसम है ठंड के मौसम में शाम के पांच बजे तक रात हो जाती है। सुदूर इलाकों में देर शाम तक रहने में दिक्कत होती है। कई एपीएससी में शौचालय, पानी आदि की सुविधा भी नहीं है। प्रदर्शन कर रही एएनएम कर्मियों ने कहा की हम सभी एएनएम कर्मी को नियमित कर्मी जैसे वेतनमान मिलना चाहिए। वहीं फारबिसगंज में प्रदर्शन कर रही एएनएम कर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर एक हस्ताक्षर युक्त मांगपत्र फारबिसगंज रेफ़रल अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ राजीव बसाक को सौंपा।

इधर फारबिसगंज रेफ़रल अस्पताल के प्रभारी राजीव बसाक ने बताया कि सरकार का ही ऐसा निर्देश है कि फेस ऐप पर अपने लोकेशन क्षेत्र से उपस्थिति दर्ज करानी होगी।