Tuesday , August 16 2022
Home / विदेश / अर्थ-डे पर बौद्ध भिक्षुओं ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड:थाईलैंड में 3.30 लाख मोमबत्तियां जला कर दिया पृथ्वी बचाने का संदेश; लोग बोले- इनके धुएं से हवा प्रदूषित हुई

अर्थ-डे पर बौद्ध भिक्षुओं ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड:थाईलैंड में 3.30 लाख मोमबत्तियां जला कर दिया पृथ्वी बचाने का संदेश; लोग बोले- इनके धुएं से हवा प्रदूषित हुई

अर्थ-डे पर बौद्ध भिक्षुओं ने 78 एकड़ में फैले मंदिर परिसर में 3.30 लाख मोमबत्तियां जलाईं और पृथ्वी को सहेजने के संदेश दिया। - Dainik Bhaskar

अर्थ-डे पर बौद्ध भिक्षुओं ने 78 एकड़ में फैले मंदिर परिसर में 3.30 लाख मोमबत्तियां जलाईं और पृथ्वी को सहेजने के संदेश दिया।

थाईलैंड का 51 साल पुराना धम्मकाया मंदिर गुरुवार रात बिजली के बजाय मोमबत्तियों की रोशनी से रोशन हो उठा। मौका था- अर्थ-डे यानी पृथ्वी दिवस का। इस मौके पर बौद्ध भिक्षुओं ने 78 एकड़ में फैले मंदिर परिसर में 3.30 लाख मोमबत्तियां जलाईं और पृथ्वी को सहेजने के संदेश दिया।

इस दौरान बौद्ध भिक्षुओं ने मंदिर परिसर में दुनिया की सबसे बड़ी ज्वलंत छवि भी उकेरी। इसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया। दूसरी ओर एक बार में 3.30 लाख मोमबत्तियां जलाने पर बौद्ध भिक्षु पर्यावरण प्रेमियों के निशाने पर आ गए। पर्यावरण प्रेमियों ने कहा- ‘मोमबत्तियां जहरीले रसायनों से बनती हैं, जिनका धुआं हवा को प्रदूषित करता है। एक साथ इतनी मोमबत्तियां जलाने से पर्यावरण प्रदूषित हुआ।

ऐसा करके बौद्ध भिक्षु क्या संदेश देना चाहते थे।’ वहीं सवाल उठने पर बौद्ध भिक्षुओं ने सफाई दी और कहा- ‘ये मोमबत्तियां अर्थ डे के मौके पर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के लिए निश्चित समय के लिए जलाई गई थीं। मकसद पूरा होने पर उन्हें बुझा दिया गया था।’

खबरें और भी हैं…

Check Also

अमेरिकी राष्ट्रपति व विदेश मंत्री ने दी भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर बधाई

वाशिंगटन, 15 अगस्त (हि.स.)। भारत के 76वें स्वतंत्रता दिवस पर अमेरिकी राष्ट्रपति व विदेशमंत्री ने ...